ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR नोएडापार्सल में ड्रग्स होने की बात कहकर सेवानिवृत्त मेजर जनरल से 37.68 लाख ऐंठे

पार्सल में ड्रग्स होने की बात कहकर सेवानिवृत्त मेजर जनरल से 37.68 लाख ऐंठे

नोएडा, वरिष्ठ संवाददाता। जालसाजों ने पार्सल में ड्रग्स और कई पासपोर्ट की बात कहकर...

पार्सल में ड्रग्स होने की बात कहकर सेवानिवृत्त मेजर जनरल से 37.68 लाख ऐंठे
हिन्दुस्तान टीम,नोएडाTue, 14 May 2024 10:30 PM
ऐप पर पढ़ें

नोएडा, वरिष्ठ संवाददाता। जालसाजों ने पार्सल में ड्रग्स और कई पासपोर्ट की बात कहकर सेवानिवृत्त मेजर जनरल से 37.68 लाख रुपये ऐंठ लिए। पीड़ित ने मामले की शिकायत साइबर क्राइम थाने में की है। पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। आरोप है कि करीब 47 मिनट तक पीड़ित को जालसाजों ने डिजिटल अरेस्ट करके रखा।
साइबर क्राइम थाने में दी शिकायत में ग्रेटर नोएडा निवासी सेवानिवृत्त मेजर जनरल अमरजीत सिंह ने बताया कि रविवार को शाम साढ़े चार बजे के करीब उनके मोबाइल पर अनजान नंबर से कॉल आई। कॉलर ने कहा कि वह मुंबई से बोल रहा है और उनके नाम पर चार मई को एक कुरियर आया है, जिसमें 200 ग्राम ड्रग्स और पांच पासपोर्ट समेत अन्य सामान है। उसने पार्सल में तीन क्रेडिट कार्ड और कपड़े होने की भी बात कही। जालसाज ने कहा कि कुरियर भेजने के लिए पीड़ित की आधार आइडी का प्रयोग किया गया है। उसने आधार से जुड़ा मोबाइल नंबर भी बताया। इसके बाद पीड़ित को विश्वास हो गया। पीड़ित ने कॉलर से कहा कि उनका इस कुरियर से कोई लेना-देना नहीं है। इसके बाद उसने कॉल को साइबर क्राइम सेल में स्थानांतरित कर दिया। मामला ड्रग्स तस्करी और मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट का बताकर पीड़ित को भयभीत कर दिया गया। साइबर ठगों ने एक राजनेता के बारे में शिकायतकर्ता को बताया कि वह मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में जेल में हैं। उन्होंने एक फर्जी एफआईआर भी दिखाई। ठगों ने जांच करने के लिए उन्हें मुंबई बुलाया। जालसाजों के कहने पर पीड़ित ने दबाव में आकर दो बार में 37,68,510 रुपये की रकम ट्रांसफर कर दी। कॉल 37 मिनट 45 सेकेंड तक जारी रही। इस दौरान जालसाजों ने पीड़ित को कॉल छोड़कर बाहर नहीं जाने दिया। जालसाजों ने जब पीड़ित पर और पैसे भेजने का दबाव बनाया तो उसे ठगी की आशंका हुई। पैसे वापस मांगने पर जालसाजों ने पीड़ित से संपर्क तोड़ दिया। साइबर क्राइम थाने के प्रभारी ने बताया कि नाइजीरियन गिरोह द्वारा ठगी की वारदात को अंजाम देने की आशंका जताई जा रही है। बीते कई माह से सुस्त पड़े नाइजीरियन गिरोह के जालसाज फिर से सक्रिय हो गए हैं और लगातार ठगी की वारदात को अंजाम दे रहे हैं। बीते दिनों जालसाजों ने एक बुजुर्ग महिला चिकित्सक को डिजिटल अरेस्ट कर उनके साथ 45 लाख रुपये की ठगी की थी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।