DA Image
16 जनवरी, 2021|11:10|IST

अगली स्टोरी

19 झोलाछाप डॉक्टरों के क्लीनिक बंद कराए

default image

नोएडा। झोलाछाप डॉक्टरों पर कार्रवाई को लेकर स्वास्थ्य विभाग सुस्त है। यह हालत तब है जब कुछ समय पहले मामूरा में झोलाछाप डॉक्टर द्वारा इलाज के कारण गर्भवती की मौत हो गई थी।

जिले में झोलाछाप डॉक्टरों की संख्या बढ़ रही है। बीते समय में झोलाछाप डॉक्टरों द्वारा लापरवाही के कारण की जान खतरे में पड़ने के मामले भी मिले हैं। वहीं लोग सस्ते के कारण झोलाछाप डॉक्टरों से उपचार कराते हैं।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक सितंबर से अबतक 61 जगहों पर छापेमारी की गई और 19 झोलाछाप डॉक्टरों के क्लीनिक बंद कराए हैं। स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि 61 क्लीनिकों पर छापेमारी की गई थी। क्लीनिक और डिग्री संबंधी जरूरी कागजात न दिखा पाने पर 19 क्लीनिक बंद कराए हैं। वहीं 17 के खिलाफ थाने में शिकायत दी गई है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.दीपक ओहरी ने कहा कि झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई जारी है। कोरोना के कारण अभियान तेज नहीं चलाया जा सका लेकिन अब इसमें तेजी लाई जा रही है।