ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR नई दिल्लीअपडेट--- मुंबई होर्डिंग हादसे में मृतकों की संख्या 14 हुई

अपडेट--- मुंबई होर्डिंग हादसे में मृतकों की संख्या 14 हुई

- घायलों की संख्या 75, अन्य की तलाश व बचाव अभियान जारी -

अपडेट--- मुंबई होर्डिंग हादसे में मृतकों की संख्या 14 हुई
हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीTue, 14 May 2024 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

- घायलों की संख्या 75, अन्य की तलाश व बचाव अभियान जारी
- एजेंसी के मालिक के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज

मुंबई, एजेंसी। मुंबई में होर्डिंग गिरने व उसकी चपेट में आने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 14 हो गई है। घायलों की संख्या 75 बताई गई है। हादसे के एक दिन बाद मंगलवार को भी बचाव व तलाशी अभियान जारी रहा।

मुंबई पुलिस आयुक्त विवेक फणसलकर ने घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। होर्डिंग लगाने वाली कंपनी एगो मीडिया के मालिक भावेश भिड़े और अन्य के खिलाफ गैर इरादतन हत्या व अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया है। विज्ञापन एजेंसी को नोटिस भी जारी किया गया है। सोमवार को धूल भरी आंधी व बेमौसम बारिश के दौरान घाटकोपर इलाके में एक पेट्रोल पंप पर 120 x 120 वर्ग फुट का भारी-भरकम अवैध होर्डिंग गिर गया था। बारिश से बचने के लिए पेट्रोल पंप पर शरण लिए आम लोग, वाहन चालक व वहां तैनात कर्मी उसके नीचे दब गए थे। पुलिस ने बताया कि होर्डिंग के नीचे से 89 लोगों को निकाला जा चुका है, जिनमें से 14 को मृत घोषित कर दिया गया। 75 घायलों में से 31 को प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। बाकी का इलाज चल रहा है। कुछ की हालत गंभीर है।

------------------

आग की आशंका से गैस कटर का इस्तेमाल नहीं

एनडीआरएफ के सहायक कमांडेंट निखिल मुधोलकर ने बताया कि हादसे वाली जगह पर पेट्रोल पंप होने के कारण गैस कटर का इस्तेमाल नहीं हो सका। इसके इस्तेमाल से धमाके या आग की आशंका थी। इस वजह से बचाव कार्य में देरी भी हुई। मुधोलकर ने बताया कि दो भारी क्रेन की मदद से होर्डिंग को ऊपर उठाया गया और साढ़े तीन से चार फुट की पतली जगह बनाई गई। इसके बाद नीचे फंसे लोगों को निकालने के लिए बचाव कर्मी दाखिल हुए। गत रात होर्डिंग के तीन गार्डर को दो हाइड्रोलिक क्रेन से हटाया गया और उनके नीचे दबे चार पहिया वाहनों में फंसे नौ लोगों को बाहर निकाला गया। पर इनमें से कोई नहीं बच सका।

--------------

होर्डिंग अवैध, पुलिस ने लगवाई : बीएमसी

बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के मुताबिक होर्डिंग अवैध था। राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने रेलवे की जमीन पर ऐसे चार होर्डिंग के लिए कोई अनुमति नहीं ली थी। वहीं, भाजपा नेता किरीट सोमैया ने कहा कि रेलवे पुलिस के तत्कालीन एसीपी (प्रशासन) शाहजी निकम ने होर्डिंग लगाने की अनुमति एजेंसी को दी थी। वह अवैध था, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। जब अनुमित दी गई तब उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री थे। अगर तत्कालीन पुलिस महानिदेशक सख्त होते तो ऐसी घटना नहीं होती। कहा, कागज पर अनुमति 40 फीट के होर्डिंग के लिए दी गई थी जबकि जो गिरा वह 120 फीट लंबा था। उन्होंने कहा कि मुंबई में 400 होर्डिंग तय आकार से बड़े हैं। घाटकोपर की तरह ही कमजोर बुनियाद पर खड़े हैं।

----------------------

कार्रवाई होती उससे पहले हादसा : जीआरपी

जीआरपी ने मंगलवार को कहा कि होर्डिंग्स लगाने के लिए सड़क किनारे पेड़ों को नुकसान पहुंचाने की शिकायत पर बीएमसी ने पिछले हफ्ते विज्ञापन कंपनी मेसर्स एगो मीडिया के खिलाफ एक पत्र जारी किया था। बीएमसी से पत्र मिलने के बाद जीआरपी कार्रवाई करने जा ही रही थी कि दुखद घटना हो गई। रेलवे पुलिस के सहायक पुलिस आयुक्त (प्रशासन) ने कहा कि जमीन पर होर्डिंग लगाने की अनुमति दिसंबर 2021 में 10 साल की अवधि के लिए दी गई थी। तत्कालीन जीआरपी कमिश्नर कैसर खालिद ने इसकी मंजूरी दी थी।

-----------------

होर्डिंग एजेंसी के मालिक पर रेप समेत 23 केस

होर्डिंग एजेंसी के मालिक भावेश भिंडे के खिलाफ 23 आपराधिक मामले दर्ज हैं। हादसे के बाद से वह फरार है। पुलिस ने बताया कि भिंडे को जनवरी में मुलुंड पुलिस स्टेशन में दर्ज बलात्कार के एक मामले में गिरफ्तार किया गया था, लेकिन बाद में उसे जमानत मिल गई थी। भिंडे ने 2009 में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव भी लड़ा था। किरीट सोमैया के अनुसार भिंडे की एक अन्य कंपनी के खिलाफ अवैध होर्डिंग लगाने की कई शिकायतें दर्ज होने के बाद 2017-18 में भारतीय रेलवे के वाणिज्यिक विभाग ने उसे काली सूची में डाल दिया था।

-----------------

जांच के लिए विशेषज्ञ नियुक्त

हादसे के कारणों का पता लगाने के लिए मंगलवार को मुंबई स्थित वीरमाता जीजाबाई टेक्नोलॉजिकल इंस्टीट्यूट (वीजेटीआई) के एक विशेषज्ञ को नियुक्त किया गया। बीएमसी के एक अधिकारी ने कहा कि प्रारंभिक जांच के अनुसार होर्डिंग के ढहने का कारण नींव का कमजोर होना हो सकता है। नींव पर्याप्त गहरी नहीं थी।

-------------------

कोट---

हम तथ्य सामने लाएंगे

इस घटना और इसके पीछे के कारणों को लेकर कई सवाल हैं, लेकिन इस वक्त हमारी पहली प्राथमिकता इसके नीचे फंसे लोगों की सुरक्षा व बचावकर्मियों की सफलता के लिए प्रार्थना करना होगी। हम सवाल पूछेंगे, तथ्य सामने लाएंगे और दोषियों को सजा दिलाने की उम्मीद करेंगे।

- आदित्य उद्धव ठाकरे, शिवसेना नेता

----------------

कोट--

अस्वीकार्य। और हम एक ऐसा शहर हैं जो खुद को एक आधुनिक महानगर में बदलने की कोशिश कर रहा है।

- आनंद महिंद्रा, महिंद्रा समूह के अध्यक्ष (एक्स पर)

----------------------

बीएमसी ने शुरू किया ध्वस्तीकरण

मुंबई नगर निकाय ने मंगलवार को कहा कि उसकी अनुमति के बिना लगाए गए शहर के सभी होर्डिंग के खिलाफ कार्रवाई होगी। शाम को जीआरपी के कब्जे वाली जमीन पर शेष होर्डिंग के ध्वस्तीकरण का काम शुरू हुआ। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पहले कोई कार्रवाई नहीं की गई थी क्योंकि बीएमसी व रेलवे पुलिस के बीच विवाद था। नगर निगम आयुक्त भूषण ने कहा कि सभी वार्डों में अवैध होर्डिंग तुरंत हटाने के निर्देश दिए गए हैं।

----------------

मध्य रेलवे भी कराएगा ऑडिट

होर्डिंग हादसे के बाद मध्य रेलवे ने अपने सभी पांच डिवीजनों में ऐसी सभी संरचनाओं का ऑडिट करने का निर्देश दिया है। जोन के मुख्य प्रवक्ता स्वप्निल नीला ने मंगलवार को कहा कि इंजीनियरिंग विभाग को इसके लिए निर्देश दिए गए हैं। मध्य रेलवे के मुंबई डिवीजन में 99 स्थानों पर 138 होर्डिंग लगाए गए हैं। इनका अधिकतम आकार 100 x 40 फीट निर्धारित है ।

------------------

5-5 लाख की सहायता

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने सोमवार देर शाम घटनास्थल का दौरा किया और शहर में सभी होर्डिंग्स के संरचनात्मक ऑडिट का आदेश दिया। कहा, अगर होर्डिंग्स अवैध और खतरनाक पाए गए तो उन्हें तुरंत हटा दिया जाएगा। उन्होंने घटना में मारे गए प्रत्येक व्यक्ति के परिजनों को 5-5 लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा की।

----------------

बचाव कार्य में भारी भरकम टीम

बीएमसी के एक अधिकारी के मुताबिक तलाश व बचाव अभियान में दो जेसीबी, 25 एम्बुलेंस, दो हेवी ड्यूटी क्रेन, दो हाइड्रा क्रेन, दमकल विभाग की 12 गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया। एनडीआरएफ के 100-100 कर्मियों की दो टीमें, बीएमसी के 75 और मुंबई महानगर क्षेत्र विकास प्राधिकरण के 50 कर्मी, डॉग् स्वॉयड व स्थानीय आपदा प्रबंधन दल भी बचाव अभियान में लगे रहे।

-----------------

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।