Saturday, January 22, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR नई दिल्लीअपडेट:::---विधानसभा का शीतकालीन सत्र इसी माह कराने की तैयारी

अपडेट:::---विधानसभा का शीतकालीन सत्र इसी माह कराने की तैयारी

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीNewswrap
Tue, 30 Nov 2021 11:50 PM
अपडेट:::---विधानसभा का शीतकालीन सत्र इसी माह कराने की तैयारी

अनुपूरक बजट व लेखानुदान पास करा सकती है सरकार

राज्य कर्मचारियों के लिए कुछ राहत भरी योजनाएं आएंगी

लखनऊ। विशेष संवाददाता

योगी सरकार दिसंबर में विधानसभा का सत्र बुलाने की तैयारी में है। इसमें मौजूदा विकास योजनाओं को पूरा कराने के लिए जरूरी रकम का इंतजाम होगा। इसमें मेट्रो परियोजनाएं, एक्सप्रेसवे के साथ राज्य कर्मचारियों के लिए कुछ राहत भरी योजनाएं शामिल हैं।

योगी सरकार कई सौगात का ऐलान कर सकती है। इसके लिए मौजूदा वित्तीय वर्ष के लिए दूसरा अनुपूरक बजट लाया जाएगा, साथ ही अगले वित्तीय वर्ष के लिए लेखानुदान लाने की तैयारी है। विधानमंडल का यह सत्र दिसंबर के दूसरे या तीसरे हफ्ते में लाया जा सकता है।

माना जा रहा है कि कोरोना के नए स्वरूप के खतरे के मद्देनजर सत्र काफी छोटा होगा। चूंकि विधानसभा चुनाव के लिए आचार संहिता लगने में ज्यादा समय नहीं बचा है, ऐसे में दिसंबर में ही योगी सरकार अपने उन योजनाओं के लिए धन की व्यवस्था करेगी जो जनता को राहत देने के लिए लिहाज से महत्वपूर्ण हैं और अंतिम चरण में है। इसमें युवाओं को वितरित किए जाने वाले स्मार्टफोन व लैपटाप के लिए भी और धन की व्यवस्था की जाएगी। बुंदेलखंड एक्सप्रेस व के बचे कामों के लिए भी पैसे का इंतजाम होगा। साथ ही निर्माणाधीन पूर्वांचल एक्सप्रेसवे व गोरखपुर एक्सप्रेसवे के लिए भी अतिरिक्त धन रखा जाएगा। आगरा मेट्रो, कानपुर मेट्रो, गोरखपुर लाइट मेट्रो, वाराणसी के लिए रोपवे योजना में तेजी लाने के लिए कुछ रकम रखी जाएगी। इसके अलावा राज्य कर्मचारियों को लुभाने के लिए उनके लिए कुछ भत्तों की बहाली आदि हो सकती है।

चार महीने के लिए लाया जाएगा लेखानुदान

योगी सरकार वित्तीय वर्ष 2022-23 के एक भाग के लिए (केवल चार महीने के लिए) लेखानुदान मंजूर कराएगी। इसके लिए वित्त विभाग ने प्रस्ताव मांगे थे। इसमें चुनाव कराने के लिए गृह विभाग द्वारा किए जाने वाले खर्च, प्रशासनिक खर्च के लिए भारी धनराशि का इंतजाम होगा, साथ ही राज्य कर्मचारियों के वेतन पेंशन, भत्ते के लिए जरूरी धनराशि भी लेखानुदान प्रस्ताव में रखी जाएगी।

epaper

संबंधित खबरें