DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR नई दिल्लीअपडेट:::महाराष्ट्र हिंसा पैकेज:::महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में हिंसा के बाद नांदेड़ में स्थिति शांतिपूर्ण

अपडेट:::महाराष्ट्र हिंसा पैकेज:::महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में हिंसा के बाद नांदेड़ में स्थिति शांतिपूर्ण

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 08:20 PM
अपडेट:::महाराष्ट्र हिंसा पैकेज:::महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में हिंसा के बाद नांदेड़ में स्थिति शांतिपूर्ण

-तोड़फोड-पथराव की घटना के बाद 35 लोगों को गिरफ्तार किया गया

-एक लाख रुपये की सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचने का अनुमान

औरंगाबाद (महाराष्ट्र)। एजेंसी

त्रिपुरा में हाल में हुई सांप्रदायिक हिंसा के खिलाफ महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले में कुछ दिन पहले तोड़फोड-पथराव की घटना के बाद पुलिस ने अब तक 35 लोगों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि फिलहाल नांदेड़ में स्थिति शांतिपूर्ण है। वहां शुक्रवार को पुलिस वाहन पर पथराव की घटना में दो पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि हिंसा वजीराबाद इलाके और देगलुर नाका में हुई। पुलिस अधिकारी ने एक लाख रुपये की सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचने का अनुमान लगाया है।

पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार शेवाले ने बताया,‘घटना को लेकर नांदेड़ में चार मामले दर्ज किए गए हैं। नांदेड़ पुलिस ने अब तक इस घटना में कथित रूप से शामिल 35 लोगों को गिरफ्तार किया है। स्थिति अब नियंत्रण में और शांतिपूर्ण है।

सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने सहित विभिन्न अपराधों के लिए मामले दर्ज किए गए हैं। त्रिपुरा में कथित सांप्रदायिक हिंसा के विरोध में कुछ अल्पसंख्यक संगठनों द्वारा निकाली गई रैलियों के दौरान शुक्रवार को महाराष्ट्र के अमरावती, नांदेड़, मालेगांव (नासिक), वाशिम और यवतमाल में विभिन्न स्थानों पर पथराव हुआ था। अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों द्वारा निकाली गई रैलियों के विरोध में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा कथित रूप से आयोजित बंद के दौरान भीड़ द्वारा दुकानों पर पथराव करने के बाद शनिवार को अमरावती शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया था।

-------------------

चार वरिष्ठ एडीजी को संवेदनशील पुलिस रेंज और शहरों में तैनात किया

नागपुर। महाराष्ट्र के अमरावती और अन्य शहरों में हिंसा की हालिया घटनाओं की पृष्ठभूमि में, राज्य पुलिस मुख्यालय ने चार वरिष्ठ अतिरिक्त महानिदेशक (एडीजी) रैंक के अधिकारियों को संवेदनशील पुलिस रेंज और शहरों में तैनात किया है। इनकी तैनाती यह सुनिश्चित करने के लिए की गई है कि कहीं हिंसा की वारदात न हो। एक वरिष्ठ अधिकारी रविवार को यह जानकारी दी। महाराष्ट्र के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) संजय पांडे ने शीर्ष पुलिस अधिकारियों और राज्य के गृह मंत्री दिलीप वालसे पाटिल के साथ बैठक के बाद यह निर्णय लिया। एडीजी (कानून व्यवस्था), महाराष्ट्र राजिंदर सिंह को अमरावती, एडीजी (यातायात) भूषण कुमार उपाध्याय को नागपुर और गढ़चिरौली, एडीजी (प्रशिक्षण) संजय कुमार मराठवाड़ा क्षेत्र के औरंगाबाद और एडीजी (स्पेशल ऑपरेशंस) प्रवीण सालुंखे नासिक में कमान संभालेंगे

-----------------------------

त्रिपुरा की घटनाओं को लेकर महाराष्ट्र में हिंसा क्यों: संजय राउत

मुंबई। महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में पथराव की घटनाओं के बाद शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत ने रविवार को पूछा कि त्रिपुरा की घटनाओं को लेकर महाराष्ट्र में हिंसा क्यों हो रही है?

त्रिपुरा हिंसा की घटना का जिक्र करते हुए शिवसेना नेता ने कहा,‘सवाल उठता है कि अगर बांग्लादेश में हिंदुओं के खिलाफ हिंसा होती है, तो उसकी प्रतिक्रिया त्रिपुरा में होती है और उस प्रतिक्रिया पर, महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में दंगे होते हैं, जब कश्मीरी पंडितों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं होती है। कश्मीर में मारे गए थे, जब मणिपुर में एक कर्नल अपने परिवार के साथ आतंकवादी हमले में मारा गया था। हिंदू हर जगह हैं, प्रतिक्रियाएं (दंगे) केवल महाराष्ट्र में क्यों हैं? क्या यह त्रिपुरा में किसी साजिश का हिस्सा है जो पूरे देश को प्रभावित कर रहा है? राउत ने आगे कहा,‘अगर त्रिपुरा का मामला सही और गंभीर है, तो फिर उसकी प्रतिक्रियाएं महाराष्ट्र में क्यों हो रही हैं, अन्य राज्यों जैसे उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, हरियाणा आदि में क्यों नहीं।

--------------------------------

विहिप ने रजा अकादमी पर प्रतिबंध लगाने की मांग की

नागपुर। त्रिपुरा में कथित सांप्रदायिक हिंसा के विरोध में निकाली गई रैलियों के दौरान महाराष्ट्र के विभिन्न शहरों में पथराव की हालिया घटनाओं के खिलाफ, विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने रविवार को मुस्लिम संगठन, रजा अकादमी पर प्रतिबंध लगाने की मांग की।

महाराष्ट्र में नागपुर के धंतोली इलाके में विहिप कार्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए, विहिप महासचिव मिलिंद परांडे ने कहा कि दक्षिणपंथी संगठन दंगाइयों के खिलाफ विभिन्न पुलिस स्टेशनों में प्राथमिकी दर्ज कराएगा। उन्होंने कहा,‘अगर पुलिस अपराध दर्ज करने में विफल रहती है, तो विहिप कार्रवाई करेगी। उन्होंने कहा कि विहिप नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल इस संबंध में महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात करेगा।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें