DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR नई दिल्लीअपडेट:::केरल में भारी बारिश,एर्णाकुलम, इडुक्की और त्रिशूर में रेड अलर्ट घोषित

अपडेट:::केरल में भारी बारिश,एर्णाकुलम, इडुक्की और त्रिशूर में रेड अलर्ट घोषित

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 10:00 PM
अपडेट:::केरल में भारी बारिश,एर्णाकुलम, इडुक्की और त्रिशूर में रेड अलर्ट घोषित

-मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने लोगों को बेहद सतर्क रहने को कहा है

-मुख्यमंत्री ने कहा, शिविर में भोजन और बीमार लोगों के लिए जांच की व्यवस्था ह।

पथनमथिट्टा/इडुक्की (केरल)। एजेंसी

केरल के विभिन्न हिस्सों में शनिवार रात से हो रही भारी बारिश के मद्देनजर भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने रविवार को मध्य केरल के एर्णाकुलम, इडुक्की और त्रिशूर जिलों में दिनभर के लिए रेड अलर्ट घोषित कर दिया।

मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने एक फेसबुक पोस्ट में बेमौसम बारिश की वजह से भूस्खलन के खतरों और अन्य दिक्कतों के प्रति बेहद सतर्क रहने को कहा है। उन्होंने कहा कि पश्चिमी हवाओं की वजह से केरल में भारी बारिश के मद्देनजर अधिकारियों और लोगों को बेहद सतर्कता बरतने की जरूरत है।

विजयन ने कहा कि भूस्खलन और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में रहनेवाले लोगों को सुरक्षित स्थानों या निकटतम राहत शिविरों में जाने की जरूरत है क्योंकि आनेवाले घंटों में भारी बारिश की संभावना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शिविर, भोजन और बीमार लोगों के लिए जांच की व्यवस्था सुनिश्चित की जानी चाहिए।

बाद में, एक प्रेस विज्ञप्ति में मुख्यमंत्री ने कहा कि जिलाधिकारियों और अन्य अधिकारियों के साथ एक बैठक में भारी बारिश के मद्देनजर अगले तीन से चार दिनों में सबरीमला में भगवान अयप्पा मंदिर में श्रद्धालुओं की संख्या सीमित करने का निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री ने विज्ञप्ति में यह भी कहा कि कक्की बांध को खोला गया है।

विभिन्न बांधों का जल स्तर खतरे के निशान तक पहुंचा

भारी बारिश के कारण राज्य के विभिन्न बांधों में जल स्तर खतरे के निशान तक पहुंच गया, जिसके परिणामस्वरूप दोपहर के समय इडुक्की जलाशय के चेरुथोनी बांध के एक द्वार को खोल दिया गया। राज्य सरकार के अनुसार सुबह हुई भारी बारिश के दौरान पेरियार नदी के अलावा विभिन्न स्थानों पर जलस्तर बढ़ता देखा गया। दक्षिणी केरल के कई हिस्सों में भारी बारिश से सड़कों पर पानी भर गया है, वहीं कुछ हिस्सों में भूस्खलन भी हुआ है।

मुल्लापेरियार बांध में जलस्तर 140 फुट तक पहुंचा

इडुक्की जिला प्रशासन ने बताया कि तमिलनाडु सरकार के मुताबिक रविवार सुबह मुल्लापेरियार बांध में जलस्तर 140 फुट तक पहुंच गया। नतीजतन, पेरियार नदी के दोनों किनारों पर रहने वाले लोगों को अधिक सतर्क रहने के लिए कहा गया है, क्योंकि अगले 24 घंटे में जलस्तर बढ़ने पर बांध के द्वार खोले जा सकते हैं। पथनमथिट्टा में भारी बारिश होने के बाद जिला प्रशासन ने लोगों को अत्यधिक सावधानी बरतने की सलाह दी है, विशेष रूप से नदी के किनारे या भूस्खलन संभावित क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सतर्क रहने को कहा गया है।

पथनमथिट्टा और कोल्लम जिलों के विभिन्न हिस्से जलमग्न

समाचार चैनलों पर पथनमथिट्टा और कोल्लम जिलों के विभिन्न हिस्सों में जलमग्न सड़कों के दृश्य दिखाए जा रहे हैं। इन दोनों जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। केरल के कुछ हिस्सों में शनिवार को लगातार बारिश के कारण मामूली भूस्खलन हुआ और ट्रेन सेवाएं बाधित रहीं, जिसके कारण अधिकारियों को पर्वतीय इलाकों, नदी के किनारों और पर्यटन केंद्रों में अत्यधिक सावधानी बरतनी पड़ी।

आईएमडी ने भारी बारिश की आशंका जताई थी

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शनिवार को तिरुवनंतपुरम में अत्यधिक भारी बारिश होने की आशंका जताई थी, जबकि ऑरेंज अलर्ट के साथ कोल्लम, पथनमथिट्टा, अलाप्पुझा, कोट्टायम और इडुक्की जिलों में अत्यंत भारी वर्षा की चेतावनी जारी की गई थी। आईएमडी ने एक बयान में कहा कि 16 नवंबर तक केरल में एक या दो स्थानों पर गरज के साथ बारिश होने की संभावना है।

रेड अलर्ट से 24 घंटों में 20 सेमी से अधिक बारिश का संकेत

रेड अलर्ट 24 घंटों में 20 सेमी से अधिक भारी से अत्यधिक भारी बारिश का संकेत देता है, जबकि ;ऑरेंज अलर्ट 6 सेमी से 20 सेमी तक बहुत भारी बारिश को दर्शाता है। येलो अलर्ट का मतलब 6 से 11 सेंटीमीटर के बीच भारी बारिश है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें