Friday, January 28, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR नई दिल्लीक्रिप्टोकरेंसी पर बिल पेश करने के बारे में बताए: हाईकोर्ट

क्रिप्टोकरेंसी पर बिल पेश करने के बारे में बताए: हाईकोर्ट

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीNewswrap
Mon, 29 Nov 2021 09:00 PM
क्रिप्टोकरेंसी पर बिल पेश करने के बारे में बताए: हाईकोर्ट

सुनवाई

17 जनवरी तक केंद्र को विधेयक के बारे में जानकारी देनी होगी

कारोबार में शिकायत निवारण का कोई तंत्र नहीं होने का आरोप

मुंबई। एजेंसी

बंबई उच्च न्यायालय ने सोमवार को केंद्र सरकार को निर्देश दिया कि वह क्रिप्टोकरेंसी पर विधेयक पेश करने और इस आगे की कार्रवाई के बारे में 17 जनवरी, 2022 को उसे अवगत कराए।

मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता और न्यायमूर्ति एम एस कार्णिक की खंडपीठ ने कहा कि वह संसद को कानून बनाने का आदेश नहीं दे सकते। कोर्ट अधिवक्ता आदित्य कदम की उस जनहित याचिका पर सुनवाई कर रहा है जिसमें केंद्र सरकार को देश के भीतर क्रिप्टोकरेंसी के इस्तेमाल और कारोबार को नियंत्रित करने के लिए कानून बनाने के लिए आदेश देने का अनुरोध किया गया है।

कदम ने देश में क्रिप्टोकरेंसी के अनियमित कारोबार पर प्रकाश डालते हुए दावा किया है कि यह निवेशकों के अधिकारों को प्रभावित करता है, क्योंकि उनकी शिकायतों के निवारण के लिए कानून में कोई तंत्र नहीं है। केंद्र की ओर से पेश अधिवक्ता डीपी सिंह ने अदालत को बताया कि क्रिप्टोकरेंसी और आधिकारिक डिजिटल मुद्रा विधेयक का क्रिप्टोकरेंसी विनियमन विधेयक पेश किया गया है और संसद के शीतकालीन सत्र में इस पर चर्चा की जाएगी।

हालांकि, कदम ने दलील दी कि इसी तरह का बयान केंद्र ने 2018 और 2019 में भी दिया था, लेकिन उसके बाद कोई कदम नहीं उठाया गया था। पीठ ने कहा कि वह इस मामले की सुनवाई अब 17 जनवरी 2022 को करेगी।

अदालत ने कहा, केंद्र सरकार हमें अगली तारीख पर यह अवगत कराएगी कि क्या विधेयक पेश किया गया है या नहीं और आगे क्या कार्रवाई की गई है। विधेयक में भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी की जाने वाली आधिकारिक डिजिटल मुद्रा के निर्माण के लिए एक सुविधाजनक ढांचा तैयार करने का प्रस्ताव है।

epaper

संबंधित खबरें