ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR नई दिल्लीफीस नहीं देने पर छात्रों को अलग बिठाया, आयोग ने लिया संज्ञान

फीस नहीं देने पर छात्रों को अलग बिठाया, आयोग ने लिया संज्ञान

ठाणे, एजेंसी। महाराष्ट्र राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एमएससीपीसीआर) ने फीस का भुगतान नहीं...

फीस नहीं देने पर छात्रों को अलग बिठाया, आयोग ने लिया संज्ञान
हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीThu, 13 Jun 2024 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

ठाणे, एजेंसी। महाराष्ट्र राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एमएससीपीसीआर) ने फीस का भुगतान नहीं करने के कारण ठाणे के एक स्कूल में कुछ छात्रों को कथित तौर पर अलग बिठाए जाने के मामले में गुरुवार को सुनवाई की।
सुनवाई के दौरान ठाणे जिला परिषद की शिक्षा अधिकारी ललिता दहितुले और बालासाहेब राक्शे ने आयोग को सूचित किया कि उन्होंने ठाणे पुलिस स्कूल परिसर का दौरा किया और देखा कि जिन छात्रों ने फीस का भुगतान नहीं किया था, उनके साथ अनुचित व्यवहार किया गया और उन्हें अलग बैठने के लिए कहा गया।

इस दौरान आयोग की अध्यक्ष सुसीबेन शाह ने कहा कि माता-पिता के लिए फीस का भुगतान करना अनिवार्य है, लेकिन किसी भी परिस्थिति में स्कूल अधिकारियों को फीस वसूलने के लिए बच्चों से अनुचित व्यवहार नहीं करना चाहिए। फीस का भुगतान स्कूल और अभिभावकों के बीच एक अनुबंध है और इसे तदनुसार निपटाया जाना चाहिए।' इधर, स्कूल के प्रिंसिपल ने कहा कि छात्र असेंबली एरिया में थे। उनके साथ किसी भी तरह का कोई भेदभाव नहीं किया गया। प्रिंसिपल ने यह भी कहा कि स्कूल में डिजिटाइजेशन की प्रक्रिया चल रही है। इसके माध्यम से अभिभावक ऐप के जरिए ऑनलाइन फीस का भुगतान कर सकते हैं। इसके बाद शाह ने निर्देश दिया कि स्कूल को आवेदन और फीस प्रक्रिया समझाने के लिए एक सेमिनार आयोजित करना चाहिए।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।