ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR नई दिल्लीखेल : फुटबॉल : जर्मनी का अनुकरण नहीं करेगा नीदरलैंड्स

खेल : फुटबॉल : जर्मनी का अनुकरण नहीं करेगा नीदरलैंड्स

दोहा। नीदरलैंड्स के खिलाड़ियों के इक्वाडोर के खिलाफ शुक्रवार को होने वाले विश्व कप...

खेल : फुटबॉल : जर्मनी का अनुकरण नहीं करेगा नीदरलैंड्स
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीThu, 24 Nov 2022 08:20 PM
ऐप पर पढ़ें

दोहा। नीदरलैंड्स के खिलाड़ियों के इक्वाडोर के खिलाफ शुक्रवार को होने वाले विश्व कप मैच से पहले मेजबान देश कतर के मानवाधिकार रिकॉर्ड के विरोध स्वरूप जर्मनी की तरह कोई भावभंगिमा दिखाने की उम्मीद नहीं है। जर्मनी के खिलाड़ियों ने बुधवार को टीम के पहले मैच से पूर्व तस्वीर खींचे जाने के दौरान अपने चेहरे ढक लिए थे। यह मेजबान देश कतर में भेदभाव का विरोध करने के लिए 'वन लव' आर्मबैंड (बांह पर पट्टी बांधना) पहनने की योजना पर फीफा के कड़े रुख की निंदा का तरीका था।

सात यूरोपीय टीमों ने यह आर्मबैंड पहनने की योजना बनाई थी जिसमें नीदरलैंड्स और जर्मनी शामिल थे। समलैंगिकता को अपराध बताने वाले कानूनों और प्रवासी मजदूरों के साथ बर्ताव के कारण कतर की काफी आलोचना हो रही है। नीदरलैंड्स के डिफेंडर डेंजेल डमफ्राइस ने कहा कि खिलाड़ी मैदान पर ऐसा कुछ भी नहीं करेंगे। उन्हें लगता है कि उन्होंने कुछ प्रवासी मजदूरों से मिलकर काफी कुछ कर दिया है। नहीं, नहीं। जैसा कि कोच ने कहा कि हमने काफी प्रवासी मजदूरों से मुलाकात की जो हमारे और उनके लिए काफी अच्छा समय रहा। पिछले दो हफ्तों में हमने काफी (मानवाधिकारों के बारे में) बात की। हमें जो कुछ कहना था, हम कह चुके हैं और अब से हमें सिर्फ फुटबॉल पर ध्यान देने की जरूरत है।

किसी तरह का विरोध नहीं : नीदरलैंड्स के कोच लुईस वान गाल ने कहा कि उनकी टीम मैदान पर किसी भी तरह से विरोध नहीं करेगी। उन्होंने कहा, हमने पिछले गुरुवार को सभी राजनीतिक मुद्दों पर पूर्णविराम लगा दिया जब हमने प्रवासी मजदूरों को आमंत्रित किया। अभी तक जो हुआ वो मानवाधिकारों के बारे में ही था और शायद सही भी था और शायद नहीं भी। लेकिन मुझे लगता है कि यह काफी हो गया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
epaper