ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR नई दिल्लीखेल : फुटबॉल - एमबापे चोटिल, फीकी हुई फ्रांस की जीत का चमक

खेल : फुटबॉल - एमबापे चोटिल, फीकी हुई फ्रांस की जीत का चमक

यूरो 2024 एमबापे चोटिल, फीकी हुई फ्रांस की जीत का चमक 02 बार

खेल : फुटबॉल - एमबापे चोटिल, फीकी हुई फ्रांस की जीत का चमक
default image
हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीTue, 18 Jun 2024 04:45 PM
ऐप पर पढ़ें

यूरो 2024
एमबापे चोटिल, फीकी हुई फ्रांस की जीत का चमक

02 बार अब तक फ्रांस ने यूरो कप जीता है, 24 साल से तीसरे खिताब क इंतजार

10 बार अभी तक फ्रांस की टीम ने इस चैपिययनशिप में हिस्सा लिया है

डसेलडर्फ, एजेंसी। मैक्सिमिलियन वोबर के आत्मघाती गोल की मदद से फ्रांस ने यूरोपीय फुटबॉल चैंपियनशिप (यूरो 2024) में सोमवार रात खेले गए मैच में ऑस्ट्रिया को 1-0 से पराजित कर दिया। लेकिन इसमें उसके स्टार स्ट्राइकर किलियन एमबापे की नाक में चोट लगने से उनकी जीत की खुशी की चमक फीकी हो गई।

फ्रांस ने अभी तक दो बार यूरोपीय चैंपियनशिप जीती है लेकिन उसे 2000 के बाद अपने पहले खिताब का इंतजार है। रोमानिया इस ग्रुप में शीर्ष पर है। उसने एक अन्य मैच में यूक्रेन को 3-0 से हराया जो उसकी यूरोपीय चैंपियनशिप में पिछले 24 वर्षों में पहली जीत है।

आगे खेलना संदिग्ध : अब एमबापे का टूर्नामेंट में आगे खेलना संदिग्ध है। एमबापे ग्रुप डी के इस मैच के अंतिम क्षणों में गेंद पर नियंत्रण बनाने के प्रयास में ऑस्ट्रिया के केविन डांसो से टकरा गए। इससे उनकी नाक से खून बहने लगा और वह सूज गई। एमबापे को इस कारण मैदान छोड़ना पड़ा।

चोटिल होने से पहले एमबापे पर सभी की निगाहें टिकी थीं। ऑस्ट्रिया ने उन्हें खुलकर नहीं खेलने दिया, लेकिन टीम को जीत दिलाने में उन्होंने अपनी भूमिका निभाई।। वोबर ने 38वें मिनट में एमबापे का शॉट रोकने के प्रयास में ही आत्मघाती गोल किया जो आखिर में निर्णायक साबित हुआ।

जीत का शतक : इससे डिडिएर डेशचैम्प्स ने फ्रांस का कोच रहते हुए जीत का शतक भी पूरा किया। फ्रांस के कोच डेशचैम्प्स ने एमबापे के आगे के मैचों में खेलने के संबंध में कहा, अभी हमारे हाथ में कुछ नहीं है। अभी हमें यह पता नहीं है कि उनकी चोट कितनी गंभीर है। वह टूर्नामेंट में आगे खेल पाएंगे या नहीं, अभी इसका जवाब मेरे पास नहीं है।

फ्रांस के मिडफील्डर एनगोलो कांटे ने कहा, एमबापे के चोटिल हो जाने से हम सभी चिंतित हैं। हमें नहीं पता स्थिति अभी कैसी है। हम यही उम्मीद कर रहे हैं कि चोट गंभीर न हो और वह बाकी टूर्नामेंट के लिए टीम में बने रहें।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।