DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नियम तोड़नेवालों की शामत: दिल्ली में 100 चौराहों पर लगेंगे विशेष कैमरे

प्रतीकात्मक तस्वीर

राजधानी की सड़कों पर यातायात नियमों की धज्जियां उड़ाने वालों पर नकेल कसने में ट्रैफिक पुलिस जुट गई है। नियम तोड़ने वाले वाहन चालकों को दबोचने के लिए दिल्ली के 100 प्रमुख व्यस्ततम चौराहों पर विशेष कैमरे लगाए जाएंगे। चौराहों को कैमरे से लैस करने की प्रक्रिया अगले माह से शुरू होगी।

दिल्ली की सड़कों पर स्टॉप लाइन, लालबत्ती और निर्धारित स्पीड के नियमों की अनदेखी करने वालों पर अब ट्रैफिक पुलिस विशेष कैमरों की मदद से लगाम लगाएगी। ये कैमरे नियम तोड़ने वालों की तस्वीरें लेंगे और उस वाहन नंबर के जरिये संबंधित अथॉरिटी से पंजीकरण के आधार पर मालिक का पता लेकर पुलिस उस पर चालान भेज देगी।

क्यों लिया फैसला

दिल्ली की सड़कों पर लगने वाले जाम व बढ़ती दुर्घटनाओं के कारणों को लेकर कराए एक अध्ययन कराया गया था। इसमें खुलासा हुआ है कि प्रमुख चौराहों पर जल्दी आगे निकलने की होड़ में लोग रेड लाइट जंप करते हैं और स्टॉप लाइन को क्रॉस करते हुए सड़क के दूसरी तरफ तक पहुंच जाते हैं। इससे दूसरी ओर से आने वाले वाहनों को रास्ता नहीं मिलता और जाम की स्थिति बन जाती है। वहीं, ओवर स्पीड को दुर्घटना का एक महत्वपूर्ण कारण माना गया। 

दोनों नियमों की अनदेखी करने वालों पर नकेल कसने पर पता चला कि ऐसे लोगों की संख्या में दोगुने तक की बढ़ोतरी हो रही है। इसके बाद लोगों में बढ़ती इस प्रवृत्ति पर अंकुश लगाने के लिए प्रमुख चौराहों पर कैमरे लगाने का निर्णय लिया गया।

53 करोड़ रुपये है पूरे प्रोजेक्ट की लागत

इस प्रोजेक्ट की लागत करीब 53 करोड़ रुपये है। स्टॉप लाइन व लालबत्ती जंप करने वालों पर नजर रखने वाले विशेष कैमरे लगाने की लागत करीब 28 करोड़ रुपये है। ओवर स्पीड पर नजर रखने के लिए कैमरे लगाने के लिए 25 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:special cameras will be installed at 100 intersections in Delhi