DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संशोधित---सैंतीस संपत्तियों पर निगम ने लगाई सील

नई दिल्ली, प्रमुख संवाददाता

सुप्रीम कोर्ट की निगरानी समिति के निर्देश पर बुधवार को दक्षिणी दिल्ली के असोला गांव में अतिक्रमण के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई। इस दौरान 445 बीघा सरकारी जमीन से अवैध निर्माण को हटाया गया। अतिक्रमणकारियों ने यहां कब्जा करके फार्महाउस, धार्मिक संस्थान और कार्यालय आदि बना रखे थे।

पहले सर्वे किया गया था : असोला गांव में हुए अतिक्रमण का निगरानी समिति द्वारा 19 फरवरी को सर्वे किया गया था। यहां पर 934 बीघे के लगभग सरकारी जमीन है। इसमें वन विभाग की 676 बीघा, ग्राम सभा की 126 बीघाऔर शिक्षा विभाग व केंद्र सरकार की 133 बीघा जमीन शामिल हैं।

खुद न तोड़ने पर कार्रवाई : निगरानी समिति ने विस्तृत सर्वेक्षण के बाद यहां हुए अतिक्रमण को हटाने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद प्रशासन की ओर से अतिक्रमण खुद से हटाने के नोटिस जारी किए गए थे। लोगों द्वारा खुद से अतिक्रमण नहीं हटाने पर बुधवार को जिला प्रशासन की टीम ने लगभग 445 बीघा जमीन से अतिक्रमण हटा दिया। इस दौरान छिटपुट विरोध का भी सामना करना पड़ा। इस अभियान में पुलिस, वन विभाग, राजस्व विभाग व शिक्षा विभाग के तमाम कर्मचारी मौजूद रहे।

अलग-अलग इलाकों में 37 संपत्तियां सील : उत्तरी व दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने बुधवार को अलग-अलग इलाकों में 37 संपत्तियों पर सील लगा दी। इनमें व्यावसायिक प्रतिष्ठान व आवासीय भवनों की स्टिल्ट पार्किंग शामिल हैं। वहीं, कुछ अन्य जगहों पर पुलिस बल नहीं मिलने के चलते सीलिंग अभियान नहीं चलाया जा सका।

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने बुधवार को विकासपुरी, वेस्ट पंजाबी बाग और हरी नगर में सीलिंग अभियान चलाया। विकासपुरी में स्टिल्ट पार्किंग और बेसमेंट में चल रहे ब्यूटी सेंटर और जिम को निगम ने सील कर दिया। वहीं, वेस्ट पंजाबी बाग में निगम को स्टिल्ट पार्किंग में आवासीय कमरे, ड्राइंग रूम, पोर्टा केबिन, सर्वेंट रूम और कार्यालय बने हुए। इन सभी को भवन नियमों का दुरुपयोग करने के आरोप में सील कर दिया गया। हरीनगर में एक आवासीय भवन की स्टिल्ट पार्किंग में 12 कमरे बनाए हुए थे। निगम ने इसे भी सील कर दिया। उत्तरी निगम ने भी आवासीय भवनों व लोकल शापिंग कांप्लेक्स में सीलिंग अभियान चलाया। सिटी सदर पहाड़गंज जोन के अंतर्गत आजाद मार्केट के लोकल शॉपिंग कांप्लेक्स में 11 दुकानों को सील कर दिया गया। इसके अलावा, इसी जोन में छह स्टिल्ट पार्किंग पर भी निगम ने सील लगा दी। केशवपुरम के पश्चिम विहार में चार व करोलबाग के नारायणा में दो आवासीय भवनों की स्टिल्ट पार्किंग को सील कर दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sealing--mcd