ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR नई दिल्लीस्कूलों में संस्कृत के शिक्षक बनेंगे पेशेवर

स्कूलों में संस्कृत के शिक्षक बनेंगे पेशेवर

- 04 हजार से अधिक हैं दिल्ली में संस्कृत विषय के शिक्षक - 03

स्कूलों में संस्कृत के शिक्षक बनेंगे पेशेवर
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीSun, 13 Nov 2022 06:20 PM
ऐप पर पढ़ें

- 04 हजार से अधिक हैं दिल्ली में संस्कृत विषय के शिक्षक

- 03 अलग-अलग चरणों में विभाजित है प्रशिक्षण कार्यक्रम

नई दिल्ली, कार्यालय संवाददाता।

दिल्ली के सरकारी स्कूल के संस्कृत के शिक्षक पेशवर बनेंगे। इसको लेकर राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) ने एक संस्था के साथ करार किया है। जिसके तहत शिक्षकों की क्षमताओं को उभारा जाएगा। इसके लिए शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षण मिलेगा।

एससीईआरटी के सहायक निदेशक (प्रशिक्षण) डॉ. वीके पाठक ने बताया कि संस्कृत शिक्षकों की लिखने, पढ़ने, बोलने और सुनने की क्षमताओं का निर्माण किया जा रहा है। इसके लिए एक वेबसाइट तैयार की गई है। जिसके लिए पहले तो शिक्षकों का पंजीकरण करना होगा। उसके बाद ऑनलाइन खुद का मूल्यांकन करना होगा। इसमें प्रदर्शन के आधार पर प्रशिक्षण कार्यक्रम होगा। इसको लेकर तीन अलग-अलग चरण बनाए गए हैं। जिसको पूरा करने के बाद शिक्षकों को प्रमाण-पत्र जारी किया जाएगा।

प्रशिक्षण कार्यक्रम को राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के दिशा-निर्देशों के आधार पर तैयार किया गया है। 50 घंटे का यह पूरा कार्यक्रम है। शिक्षक को कक्षा में एक वातावरण बनाना होगा, जो भाषा के प्राकृतिक अधिग्रहण की सुविधा प्रदान करेगा। इसके लिए शिक्षक का सुनने, बोलने, पढ़ने और लिखने में दक्ष होना जयरी है। जिसके लिए प्रशिक्षण की आवश्यकता है।

कार्यशाला भी लगाई गई थी

बता दें कि इस वर्ष एससीईआरटी दिल्ली की ओर से संस्कृत संवर्धन प्रतिष्ठान (दिल्ली) के सहयोग से संस्कृत के मास्टर प्रशिक्षक तैयार करने को लेकर कार्यशाला आयोजित की गई थी। जिससे पूरी दिल्ली में चार हजार से अधिक संस्कृत शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जा सके।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
epaper