DA Image
18 जनवरी, 2021|6:47|IST

अगली स्टोरी

कांग्रेस में नहीं है कोई नेतृत्व संकट, सोनिया और राहुल को है सभी का समर्थन: खुर्शीद

सलमान खुर्शीद

बिहार चुनावों में खराब प्रदर्शन के बाद कुछ नेताओं द्वारा कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व की आलोचना के बीच वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने रविवार को कहा कि पार्टी में नेतृत्व का कोई संकट नहीं है। सोनिया और राहुल गांधी के लिए सबका समर्थन स्पष्ट है, जो अंधा नहीं है।

गांधी परिवार के करीबी माने जाने वाले नेताओं में शामिल खुर्शीद ने यह भी कहा कि कांग्रेस में विचारों को प्रसारित करने और पार्टी के बाहर ऐसा करने के लिए पर्याप्त मंच हैं। खुर्शीद की यह टिप्पणी, वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल और कुछ अन्य नेताओं की पार्टी नेतृत्व की आलोचना के बाद आया है।  खुर्शीद ने समाचार एजेंसी पीटीआई को दिए इंटरव्यू में कहा कि नेतृत्व मुझे तो सुनता है। मुझे हमेशा बोलने का अवसर दिया जाता है। उन्हें भी मौका मिलता है, जो मीडिया में आलोचना करते हैं, जहां से यह बात सामने आती है कि नेतृत्व सुन नहीं रहा है।

आपको बता दें कि बिहार चुनाव में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन और हालिया उपचुनावों में सिब्बल और एक अन्य वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम की टिप्पणियों के बारे में पूछे जाने पर खुर्शीद ने कहा कि जो कुछ भी उन्होंने कहा है, उससे असहमत नहीं हो सकता हूं लेकिन किसी को बाहर जाकर मीडिया और दुनिया को क्यों बताना पड़ता है कि हमें यह करने की आवश्यकता है।

विश्लेषण करने और उस पर बात करने को लेकर सलाम खुर्शीद का कहना था कि विश्लेषण हर समय किया जाता है, विश्लेषण के बारे में कोई झगड़ा नहीं है। यह किया जाएगा। नेतृत्व, जिसके ये सभी लोग एक हिस्सा हैं, उचित रूप से देखेंगे कि क्या गलत हुआ है और हम कैसे सुधार कर सकते हैं। यह सब सामान्य तरीके से होगा, हमें इसके बारे में बाहर जाकर बात करने की ज़रूरत नहीं है।

इससे पहले सिब्बल ने कांग्रेस नेतृत्व की सार्वजनिक आलोचना करते हुए कहा था कि आत्मनिरीक्षण का समय समाप्त हो गया, लोग अब पार्टी को एक प्रभावी विकल्प के रूप में नहीं देखते हैं।

कुछ नेताओं के पूर्णकालिक अध्यक्ष बनाए जाने के बारे में पूछे जाने पर, उन्होंने कहा कि पार्टी के नेताओं को आगे आना चाहिए और पार्टी के अंदर इस बारे में बात करनी चाहिए। सोनिया गांधी एक साल से अधिक समय तक अंतरिम प्रमुख रही हैं। उन्होंने पूछा था कि अंतरिम प्रमुख होने के लिए एक साल का समय बहुत लंबा है और उन्होंने कहा कि अगर नए अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया में समय लग रहा है, तो यह अवश्य होना चाहिए। इसका एक अच्छा कारण है।

उन्होंने यह भी कहा कि कोई भी अलग नहीं है, वे सभी यहां हैं। एकमात्र आग्रह एक लेबल का है, आप एक लेबल पर जोर क्यों देते हैं। बहुजन समाज पार्टी में कोई अध्यक्ष नहीं है। वामपंथी दलों में कोई अध्यक्ष नहीं है, केवल सामान्य कार्यकर्ता हैं। हालांकि हर पार्टी एक ही मॉडल का पालन नहीं कर सकती।

नेतृत्व संकट पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि हम खुश हैं, हम सब साथ काम कर रहे हैं। कोई नेतृत्व संकट नहीं है। चुनाव समिति अध्यक्ष के चुनाव पर काम कर रही है। इसमें COVID-19 के कारण समय लग रहा है।

यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस में हर कोई अपने नेता के रूप में राहुल गांधी के पीछे है, खुर्शीद ने कहा कि मुझे लगता है कि जो कोई भी चीजों को देख समझ रहा है, उसके लिए यह स्पष्ट है कि लोग कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया जी और राहुल गांधी के समर्थन में हैं, जो हमारे हैं पूर्व अध्यक्ष रहे हैं। हर कोई उनका समर्थन करता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Salman Khurshid said that There is no leadership crisis in Congress everyone has support for Sonia and Rahul