DA Image
24 जनवरी, 2021|4:30|IST

अगली स्टोरी

ओखला में 50 टन का संयंत्र लगाने का पालयट प्रोजेक्ट शुरू

default image

नई दिल्ली। प्रमुख संवाददाता

दक्षिण दिल्ली नगर निगम इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसीएल) तथा नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी) के सहयोग से नव वर्ष में ओखला लैंडफिल साइट के समीप कचरे से बिजली बनाने के लिए 50 टन का संयंत्र लगाएगी। संयंत्र से प्रतिदिन एक मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा। अभियांत्रिक विभाग के अधिकारियों का कहना है कि बिजली का इस्तेमाल निगम स्ट्रीट लाइट के लिए इस्तेमाल करेगा। पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर संयंत्र लगाने के लिए टेंडर प्रकिया पूरी की जा चुकी है।

दक्षिण दिल्ली नगर निगम ने आईओसीएल तथा एनटीपीसी के साथ मिलकर 50 टन का संयंत्र लगाने के एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। संयंत्र स्थापित होने पर प्रतिदिन 50 टन कचरे से एक मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जाएगा। अभियांत्रिक विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि समझौते के तहत संयंत्र लगाने के लिए दक्षिण निगम ने करीब एक एकड़ भूमि तथा 50 टन कचरा प्रतिदिन मुहैया कराना तय हुआ है। जबकि संयंत्र लगाने केलिए आने वाला खर्च करीब 100 करोड़ रुपये आईओसीएल तथा एनटीपीसी को देना होगा। दक्षिण निगम ने संयंत्र लगाने के लिए एक एकड़ भूमि आईओसीएल को मुहैया करा दी है।

दक्षिण निगम के नेता सदन नरेंद्र चावला का कहना है कि समझौते के तहत नववर्ष में पालयट प्रोजेक्ट के तौर पर संयंत्र लगाने की प्रकिया शुरू कर दी गई है। इस योजना को अमली जामा पहनाने के लिए टेंडर प्रकिया और वर्क आर्डर हो चुके हैं। उनका कहना है इस संयंत्र से प्रतिदिन उत्पादन होनी वाली बिजली का इस्तेमाल दक्षिण निगम स्ट्रीट लाईट के अलावा बीएसईएस के ग्रिड को भी सप्लाई कर सकता है। अगर यह पायलट प्रोजेक्ट सफल रहा तो इसको अपग्रेड कर 250 टन का कर दिया जाएगा। यह प्रोजेक्ट पेट्रोलियम मंत्रालय की निगरानी में किया जा रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Pilot project to set up 50 ton plant at Okhla begins