DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आपके अकाउंट में आएगी ऑनलाइन में अदा की गई फीस

नई दिल्ली। वरिष्ठ संवाददाता गुरुवार को कमला नेहरू कॉलेज में ओपेन डेज में सैकड़ों की संख्या में छात्र-छात्राओं के साथ उनके अभिभावक पहुंचे। ऑनलाइन दाखिला प्रक्रिया शुरू होते ही सबसे ज्यादा सवाल दिल्ली विवि की फीस वापसी नीति पर पूछे गए। विवि की डिप्टी डीन अमृता बजाज ने जवाब में बताया कि ऑनलाइन में रीफंड पॉलिसी बहुत उच्च स्तर की है। विद्यार्थियों ने आवेदन के समय जो भी अकाउंट नंबर उपलब्ध कराया है, उसमें ही फीस वापस जाएगी। भले ही उन्होंने किसी भी अकाउंट से पैसा जमा कराया हो। दिल्ली विश्वविद्यालय की ऑनलाइन दाखिला प्रक्रिया पूरी तरह खुलते ही अभिभावकों में सबसे ज्यादा असमंजस फीस वापसी को लेकर दिखा। दाखिले के अंतिम दिन तक किसी भी तरह फार्म भरने की प्रक्रिया में दिक्कत न आए, इसको लेकर सभी सजगता बरत रहे हैं। इसके अलावा अभी भी बेस्ट फोर और अप्लाइड विषयों को लेकर छात्र-छात्राओं के सवाल जारी हैं। वहीं कुछ पोर्टल की शिकायतें भी आईं। एक छात्र ने पूछा कि साइकोलॉजी और एप्लाइड साइकोलॉजी के में क्या अंतर है। जवाब में बताया कि कोई ज्यादा अंतर नहीं होता। एकाध प्रश्नपत्र ज्यादा होते हैं। बस, यह जरूर होता है कि एप्लाइड साइकोलॉजी फील्ड और एप्लीकेशन पर आधारित होती है। इसीलिए यह थ्योरी से थोड़ा अलग हो जाती है। एक छात्र ने पूछा कि विवि के जेएमसी के पोर्टल में समस्या आ रही है। उसमें दिखा रहे हैं कि फीस जमा नहीं होगी तो फार्म नहीं भर सकते। इसके जवाब में कहा गया कि इस पर तत्काल कार्रवाई के लिए संबंधित लोगों को कहा जाएगा। एक छात्रा ने पूछा कि इसीए के स्पोर्टस कोटा में आवेदन करने की क्या प्रक्रिया है? आप वेबसाइट में फार्म पर दिए विकल्प पर ईसीए को चुन सकते हैं। इसके लिए आपको फॉर्म पर मांगी गईं अलग-अलग जानकारियां देनी होंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:open days