DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली: एम्स में ऑपरेशन के लिए लंबा इंतजार होगा खत्म, जानें कैसे

aiims

राजधानी स्थित एम्स में सर्जरी के लिए लंबा इंतजार कर रहे मरीजों के लिए अच्छी खबर है। अस्पताल के नए सर्जिकल ब्लॉक की शुरुआत अप्रैल तक हो जाएगी। एम्स के उपनिदेशक शुभाशीष पांडा ने बताया कि एम्स में 12 ऑपरेशन थियेटर और 200 बेड वाला सर्जिकल ब्लॉक बनकर तैयार है। एम्स के नए सर्जिकल ब्लॉक की खास बात यह होगी कि यहां डे-केयर सर्जरी की सुविधा मिलेगी। यानी, मरीज को सर्जरी के लिए सुबह बुलाया गया और शाम तक ऑपरेशन कर उसे छुट्टी दे दी जाएगी। एम्स के जनरल सर्जरी विभाग के एक वरिष्ठ डॉक्टर के मुताबिक, फिलहाल उनके यहां सिर्फ चार ऑपरेशन थियेटर हैं। ऐसे में अधिकतर मरीजों को भर्ती करना पड़ता है। 12 ऑपरेशन थियेटर और शुरू होने पर डे केयर सर्जरी हो सकेंगी।

20 बेड आईसीयू के लिए
एम्स के नए सर्जिकल ब्लॉक में 20 बेड (गहन चिकित्सा कक्ष) आईसीयू के लिए उपलब्ध होंगे। इसके अलावा यहां रेडियोलॉजी, पैथोलॉजी जैसी सभी सुविधाएं एक स्थान पर मौजूद होंगी। लोगों को एमआरआई, सीटी स्कैन आदि के लिए दूसरी जगहों पर नई भागना पड़ेगा। जांच की सभी महत्वपूर्ण सुविधाएं सर्जिकल ब्लॉक में ही उपलब्ध होंगी। यहां वैस्कुलर सर्जरी, थोरेसिक सर्जरी की भी सुविधा होगी।

मेडिकल छात्रों ने ह्दयरोग से पीडित को बचाने के तरीके जाने

फिलहाल 100 बेड जनरल सर्जरी के लिए
एम्स में जनरल सर्जरी के लिए फिलहाल 100 बेड उपलब्ध हैं। अप्रैल में नया ब्लॉक शुरू होने पर 200 बेड बढ़ जाएंगे। पिछले साल संस्थान ने एक साल में एक लाख 94 हजार सर्जरी कर नया रिकॉर्ड स्थापित किया था। 

हर साल बढ़ रही संख्या 
साल 2015 में 2.19 लाख मरीजों की भर्तियां की गईं, जबकि 1.70 लाख मरीजों के ऑपरेशन किए गए। इस पूरे साल में एम्स की ओपीडी करीब 35 लाख मरीजों की रही। साल 2016 में सर्जरी की संख्या 1 लाख 76 हजार 843 हुई। जबकि, इसी साल एम्स में 2.34 लाख मरीजों को दाखिला मिला और ओपीडी में 41 लाख मरीजों ने इलाज पाया। साल 2017 में एम्स ने 1 लाख 94 हजार मरीजों के ऑपरेशन किए हैं, जबकि भर्ती मरीजों की संख्या 2.45 लाख और ओपीडी 43 लाख दर्ज की गई।

नई दिल्ली: मरीज को चढ़ाने जा रहे ग्लूकोज की बोतल में मिला फंगस

नंबर गेम
-04 ऑपरेशन थियेटर और 100 बेड उपलब्ध है फिलहाल जनरल सर्जरी के लिए एम्स में
-1.94 लाख सर्जरी की एम्स ने साल 2017 में
-6 से लेकर तीन साल तक सर्जरी के लिए इंतजार करना पड़ता है अभी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:now people will not wait long for the operation in aiims of delhi