DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली सरकार पर उत्तरी नगर निगम का बकाया नहीं: आप

नई दिल्ली। प्रमुख संवाददाता

आम आदमी पार्टी के पार्षद और उत्तरी निगम में नेता विपक्ष राकेश कुमार का कहना है कि दिल्ली सरकार पर निगम का एक भी पैसा बकाया नहीं है। निगम में बैठे भाजपा नेता ऐसे झूठे बयान देकर जनता को गुमराह कर रहे हैं। सरकार ने तो निगम को दिए लोन का ब्याज तक नहीं लिया है।

बता दें कि उत्तरी निगम की सत्ता पर काबिज भाजपा के नेता यह प्रचार कर रहे हैं कि दिल्ली सरकार निगम को आर्थिक मदद नहीं दे रही है। इतना ही नहीं, कई नेताओं ने यहां तक कहा है कि दिल्ली सरकार की जो देनदारी बनती है, वह भी निगमों को नहीं मिल सकी है।

बुधवार को नेता विपक्ष राकेश कुमार ने कहा कि उत्तरी निगम में जो हालात चल रहे हैं वे बेहद दुखद हैं। न तो सफाई कर्मचारियों को तनख्वाह मिल रही है और न ही निगम के अध्यापकों को वेतन मिल सका है। निगम के ठेकेदारों की पेमेंट भी नहीं की जा रही है। इसके बाद भाजपा नेता यह दुष्प्रचार कर रहे हैं कि दिल्ली सरकार निगम का बकाया नहीं दे रही है।

दिल्ली सरकार ने निगम को जो लोन दिया है, उसका ब्याज भी नहीं लिया जा रहा है। उत्तरी निगम पर कुल 3500 करोड़ रुपए की देनदारियां हैं। इनमें कर्मचारियों की तनख्वाह और बाकी अन्य देनदारियां शामिल हैं। निगम का डीडीए पर 900 करोड़ रुपए का बकाया है। वहीं, दक्षिणी निगम पर 1300 करोड़ रुपए बकाया है, लेकिन फिर भी निगम इन एजेंसियों से पैसा नहीं ले रहे हैं। वे जानबूझकर केवल दिल्ली सरकार से पैसा मांगते हैं, जबकि सरकार से इनकी कोई लेनदारी नहीं बनती।

उत्तरी निगम में स्टैडिंग कमेटी के सदस्य और आम आदमी पार्टी के पार्षद विकास गोयल ने कहा कि स्टैडिंग कमेटी ने आधिकारिक तौर पर उत्तरी एमसीडी से पूछा था कि आखिर वो कितना पैसा है जो एमसीडी को सभी कर्मचारियों को देना है। इसके जवाब में एमसीडी ने कहा कि 1706 करोड़ रुपये तनख्वाह और दूसरे तरह के एरियर के तौर पर देने हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:North mcd conflict on payment issue