DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  नई दिल्ली  ›  दिल्ली में लॉकडाउन लगते ही फिर शुरू हुआ पलायन, संक्रमण के बावजूद आनंद विहार में जनसैलाब

नई दिल्लीदिल्ली में लॉकडाउन लगते ही फिर शुरू हुआ पलायन, संक्रमण के बावजूद आनंद विहार में जनसैलाब

एजेंसियां,नई दिल्लीPublished By: Sudhir Jha
Tue, 20 Apr 2021 07:43 AM
दिल्ली में लॉकडाउन लगते ही फिर शुरू हुआ पलायन, संक्रमण के बावजूद आनंद विहार में जनसैलाब

कोरोना संक्रमण को काबू करने के लिए दिल्ली में अगले सोमवार सुबह तक लॉकडाउन लगा दिया गया है। इस बीच दिल्ली से एक बार फिर लोगों का पलायन शुरू हो गया है। लॉकडाउन की घोषणा के तुरंत बाद प्रवासी मजदूरों ने राजधानी से फिर बोरिया बिस्तर समेटकर अपने घरों की ओर पलायन शुरू कर दिया है। आनंद विहार बस टर्मिनल पर हजारों लोग पहुंच गए हैं। हर कोई जल्द से जल्द बस लेकर अपने घर पहुंच जाना चाहता है।

पिछले साल भी लॉकडाउन के बाद दिल्ली से मजदूरों का इसी तरह पलायन हुआ था। उस समय ट्रेन और बसें बंद होने की वजह से लाखों प्रवासी मजदूर पदल ही अपने गांवों की ओर निकल गए थे। भूख-प्यासे मजदूरों ने हजारों किलोमीटर की दूरी तय की थी तो कई रास्ते में ही हादसों के शिकार हो गए। शहरों को छोड़कर चले गए मजदूर लॉकडाउन के बाद दोबारा रोजगार की तलाश में शहरों में लौटने को मजबूर हुए, लेकिन एक बार फिर लॉकडाउन के ऐलान से पिछले साल की तरह पलायन शुरू हो गया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजधानी में एक हफ्ते की लॉकडाउन की घोषणा करते हुए प्रवासी लोगों से दिल्ली नहीं छोड़कर जाने की अपील की और कहा 'मैं हूं ना', लेकिन उसके बाद भी यहां आनंद विहार आईएसबीटी पर हजारों लोगों को अपने घर रवाना होने के लिए बस पाने की कोशिश करते देखा गया।

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक आनंद विहार पर आईएसबीटी और रेलवे स्टेशन पर हजारों लोग पहुंच गए और यह संख्या बढ़ती जा रही है। इससे पहले केजरीवाल ने दिन में लॉकडाउन की घोषणा करते हुए राजधानी में रहने वाले बाहरी कामगारों से अपील की थी कि यह लॉकडाउन छोटा रहने की उम्मीद है, इसलिए वे दिल्ली छोड़कर नहीं जाएं।

राजधानी में आज रात 10 बजे से अगले सोमवार सुबह पांच बजे तक के लॉकडाउन की घोषणा करते हुए केजरीवाल ने कहा, ''मैं हूं ना, मुझ पर भरोसा रखो।'' एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि लॉकडाउन की अचानक घोषणा के बाद हजारों की संख्या में लोग आनंद विहार आईएसबीटी पहुंचने लगे। इलाके में तैनात पुलिसकर्मी भी लोगों को समझाने और लौटाने की कोशिश कर रहे हैं।

हालांकि प्रवासी कामगारों को आशंका है कि दिल्ली में रोजाना कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है, ऐसे में लॉकडाउन बढ़ाया जा सकता है। दिलशाद गार्डन के एक कपड़ा कारखाने में काम करने वाले और उत्तर प्रदेश के बरेली निवासी मुकेश प्रताप ने कहा कि वह अपने घर जाना चाहते हैं क्योंकि लॉकडाउन बढ़ने के पूरे आसार हैं। पिछले साल भी देश में लॉकडाउन की घोषणा के बाद दिल्ली में काम करने वाले बिहार, उत्तर प्रदेश और अन्य राज्यों के प्रवासियों को बसों, अन्य वाहनों और यहां तक कि पैदल भी अपने घरों की ओर लौटते देखा गया था।

संबंधित खबरें