अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेएनयू प्रदर्शन: सुबह से रात तक एड ब्लॉक में फंसे रहे अधिकारी

JNU

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में अनिवार्य हाजिरी को लेकर गुरुवार को छात्रों ने मानव श्रृंखला बनाकर प्रशासनिक •भवन का घेराव किया। अधिकारियों ने छात्रों पर सुबह से शाम तक बंदी बनाने का आरोप लगाया है। वहीं जेएनयू एसयू का कहना है कि हम शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हैं। कुलपति हमसे मिलने से मना कर रहे हैं।

अनिवार्य हाजिरी को लेकर छात्र पिछले एक महीने से विवि में प्रदर्शन कर रहे हैं। गुरुवार को छात्रों ने प्रशासनिक•भवन पर इकट्ठा होकर कुलपति से मिलने का समय मांगा। कुलपति के न मिलने पर वे वहीं पर बैठ गए। छात्रों के लगातार बढ़ते हुजूम से प्रशासनिक भवन का कामकाज ठप सा हो गया।

प्रशासन का आरोप है कि जेएनयू प्रशासनिक भवन से निकलने के लिए चार गेट है लेकिन छात्रों ने चारों गेट पर कब्जा कर रखा था। सुबह 11 बजे से देर शाम तक छात्र गेट पर बैठकर अपना विरोध जताते रहे। दोपहर बाद करीब एक बजे जेएनयू के रेक्टर महापात्रा ने प्रशासनिक खंड से निकलने की कोशिश की तो वो नहीं निकल पाए। जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष गीता कुमारी ने बताया कि विवि प्रशासन की तरफ से हमें कई तरह के नोटिस आ चुके हैं। इस बार हम अपना अधिकार लेकर रहेंगे। गुरुवार को भी छात्रों को एक नोटिस दिया गया है। इसमें लिखा है कि जिन छात्रों की 75 प्रतिशत उपस्थिति नहीं होगी। उन्हें स्कॉलरशिप नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा कि हमारी यह मांग है कि जिन छात्रों पर जुर्माना लगाया गया है, उसे वापस लिया जाए। छात्रसंघ 23 फरवरी को होने वाली अकादमिक बैठक की मांग भी कर रहा है।

प्रदर्शन के दौरान पहुंची पुलिस

प्रशासनिक भवन पर प्रदर्शन के दौरान पुलिस पहुंच गई। इसके बाद छात्रों का आक्रोश और बढ़ गया। जेएनयू छात्रसंघ संयुक्त सचिव ने बताया कि विवि में किसी की कोई गहना खो गया था, पुलिस उसी की जांच के लिए आई थी। पुलिस अधिकारियों ने छात्रों को बताया कि वो सीसीटीवी फुटेज देखने के लिए प्रशासन से मंजूरी लेने आए हैं।

देर रात तक जारी रहा प्रदर्शन

रात साढ़े आठ बजे कुलपति ने ट्वीट कर कहा कि यह प्रदर्शन हाईकोर्ट के दिशानिर्देशों का उल्लघंन है। उन्होंने एक पत्र जारी कर बताया कि हाइ्रकोर्ट ने एडमिन ब्लॉक परिसर के 100 मीटर परिधि पर प्रदशर्न की मनाही कर रखा है। फिर भी यह प्रदर्शन किया गया। कई अधिकारी फंसे हुए हैं। इस पर गीता कुमारी ने कहा कि हाईकोर्ट ने ओबीसी आरक्षण के लिए भी कहा है, उस पर ध्यान नहीं दिया जाता है। प्रदर्शन शांतिपूर्ण ढंग से किया जा रहा है। उससे किसी को आने-जाने में दिक्कत नहीं है।

रजिस्ट्रार ने भी पत्र लिखकर मांगा रास्ता

रजिस्ट्रार ने पत्र भेजकर कहा कि जेएनयू छात्रसंघ भारी संख्या में छात्रदल के साथ जेएनयू प्रशासनिक इमारत को सुबह 11 बजे से घेर रखा है। वे यहां से वरिष्ठ अधिकारियों को बाहर नहीं जाने दे रहे हैं। जब दोनों रेक्टर ने दोपहर एक बजकर 25 मिनट पर लंच के लिए बाहर जाने का प्रयास किया तो प्रदर्शनकारी छात्रों ने उनका रास्ता रोक लिया और वापस एड ब्लॉक में जाने को कहा। हमने इन्हें लिखित संदेश भेजकर कहा कि अगर यहां से भीड़ को हटा दिया जाए तो जेएनयू प्रशासन छात्रसंघ से मिलकर बातचीत करने को तैयार है। उन्होंने फिर भी प्रशासनिक भवन को छोड़ने से मना कर दिया। दूसरी बार जब रेक्टर शाम चार बजे कक्षा लेने के लिए जाने लगे तो तो भीड़ ने फिर से उन्हें दौड़ाकर प्रशासनिक भवन जाने को कहा। हमने जेएनयूएसयू से बार-बार विनती की कि अधिकारियों को जाने दिया जाए लेकिन उनहोंने बात नहीं मानी। रेक्टर वन ने दोपहर में लंच नहीं किया इससे उन्हें अब चक्कर आ रहे हैं और उन्हें डॉक्टर की जरूरत पड़ सकती है। रजिस्टार ने इस मामले में हाईकोर्ट का हवाला देते हुए छात्रों से अपील की कि वे रेक्टर को परिसर से जाने दें। इस पर जेएनयूएसयू का कहना है कि रेक्टर अपनी मर्जी से वापस गए थे, छात्र लगातार उनसे वीसी से मुलाकात की मांग कर रहे थे।

खुले लॉन में कराईं सत्रांत परीक्षा

विद्यार्थियों ने कैम्पस के खुले परिसर में बैठकर परीक्षा दी। चाइनिज लैंग्वेज सेंटर की सत्रांत परीक्षा को विरोध स्वरुप विद्यार्थियों ने इसे खुले लॉन में दिया। इस सप्ताह से कई शिक्षक भी विरोध का समर्थन देते हुए कक्षाएं खुले परिसर में ले रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:JNU students confine varsity officials
मैच 6
इंग्लैंड106/2(11.0)
vs
न्यूजीलैंडबैटिंग बाकी
Sun, 18 Feb 2018 11:30 AM IST
छठा एक-दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच
दक्षिण अफ्रीका204/10(46.5)
vs
भारत206/2(32.1)
भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 8 विकटों से हराया
Fri, 16 Feb 2018 04:30 PM IST
दूसरा टी-20 अंतरराष्ट्रीय
बांग्लादेश
vs
श्रीलंका
सिल्हेट इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम, सिल्हेट
Sun, 18 Feb 2018 04:30 PM IST