ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCR नई दिल्लीजम्मू-कश्मीर : नार्को-टेरर फंडिंग मामले में मुख्य आरोपी गिरफ्तार

जम्मू-कश्मीर : नार्को-टेरर फंडिंग मामले में मुख्य आरोपी गिरफ्तार

एसआईए ने मोहम्मद शरीफ चेची को उरी से गिरफ्तार किया पूर्व मंत्री जतिंदर जम्मू-कश्मीर : नार्को-टेरर फंडिंग मामले में मुख्य आरोपी...

जम्मू-कश्मीर : नार्को-टेरर फंडिंग मामले में मुख्य आरोपी गिरफ्तार
हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीSat, 09 Sep 2023 10:50 PM
ऐप पर पढ़ें

एसआईए ने मोहम्मद शरीफ चेची को उरी से गिरफ्तार किया
पूर्व मंत्री जतिंदर सिंह के निर्देश पर कर रहा था धन एकत्र

जम्मू, एजेंसी। जम्मू-कश्मीर पुलिस की विशेष जांच एजेंसी (एसआईए) ने एक पूर्व मंत्री से जुड़े आतंकी फंडिंग मामले में मुख्य आरोपी मोहम्मद शरीफ चेची को गिरफ्तार किया है। इस मामले में पूर्व मंत्री जतिंदर सिंह उर्फ बाबू सिंह और दो अन्य के खिलाफ पिछले साल सितंबर में ही आरोपपत्र दायर किया जा चुका था। एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी।

नेचर-मैनकाइंड फ्रेंडली ग्लोबल पार्टी के अध्यक्ष सिंह को पिछले साल 9 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था। वह दक्षिण कश्मीर के कोकेरनाग निवासी अपने कार्यकर्ता मोहम्मद शरीफ शाह की 6.90 लाख रुपये की हवाला राशि के साथ गिरफ्तारी होने पर जम्मू में भूमिगत हो गए थे। मो. शरीफ शाह ने खुलासा किया था कि कठुआ जिले के निवासी जतिंदर सिंह ने उसे श्रीनगर से राष्ट्र-विरोधी गतिविधियों के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले धन को इकट्ठा करने का काम सौंपा था।

अधिकारी ने कहा कि वांछित आरोपियों में से एक मोहम्मद शरीफ चेची को एसआईए जम्मू ने बारामूला जिले के सीमावर्ती शहर उरी से गिरफ्तार कर लिया। एसआईए ने चेची सहित आरोपियों द्वारा अपनाई गई कार्यप्रणाली का भंडाफोड़ किया, जो आतंकी फंडिंग के लिए धन जुटाने के लिए नियंत्रण रेखा के पार से नशीले पदार्थ इकट्ठा करते थे।

मोहम्मद रफीक नजर और फारूक अहमद नाइकू सहित एक सुव्यवस्थित ड्रग सिंडिकेट है जो दुबई से काम कर रहा है। यह सिंडिकेट भारत की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा को चुनौती देने वाली विध्वंसक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए आतंकी फंड जुटाने के लिए भारतीय क्षेत्र में नशीले पदार्थों को प्रवाहित कर रहा था।

अधिकारी ने कहा कि इस नार्को तस्करी और आतंकी फंडिंग सिंडिकेट के एलओसी पार संचालन के पहलुओं की आगे की जांच एसआईए जम्मू में जारी है। मो. शरीफ शाह की गिरफ्तारी के बाद यह मामला शुरू में जम्मू के गांधी नगर पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया था। मो. शरीफ पूर्व मंत्री के साथ जम्मू स्थित अलगाववादियों को विध्वंसक गतिविधियों को अंजाम देने के लिए पाकिस्तान की आईएसआई और उनके एजेंटों के निर्देशों के तहत काम कर रहा था।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें