DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दीक्षांत समारोह: जामिया के दो-तिहाई पाठ्यक्रमों में लड़कियां टॉपर

jamia millia islamia

जामिया मिल्लिया इस्लामिया में सोमवार को दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान विश्वविद्यालय में सत्र 2016-17 में पास होने वाले 4649 छात्र-छात्राओं को डिग्री और डिप्लोमा प्रमाणपत्र दिए गए। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे।

विश्वविद्यालय में हुए कार्यक्रम के दौरान विभिन्न विषयों के 165 टॉपर को गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया। जामिया की मीडिया संयोजक साइमा सईद के मुताबिक टॉपरों में लड़कियों की हिस्सेदारी लगभग 75 फीसदी रही। लगभग दो तिहाई पाठ्यक्रमों में लड़कियों ने टॉप किया। मास्टर ऑफ लॉ में सुमेरा इम्तियाज को बतौर टॉपर भारत के पूर्व अटॉर्नी जनरल जीएस वाहनवती के परिवार ने गोल्ड मेडल और 50 हजार रुपये का इनाम दिया। इस अवसर पर कुल 3783 डिग्रियां और 478 डिप्लोमा छात्र-छात्राओं को दिए गए।

रचनात्मक विचार पैदा करें छात्र

केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने इस मौके पर छात्रों से रचनात्मक विचार पैदा करने के लिए कहा जिससे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 2022 तक का नया भारत बनाने का सपना पूरा हो सके। उन्होंने कहा कि सरकार नए रचनात्मक विचार लाने वाले छात्रों को आर्थिक मदद उपलब्ध कराएगी। उन्होंने छात्रों से सच्चाई, ईमानदारी, प्यार और दया को जीवन दर्शन के मूल गुण बनाने के लिए कहा। डॉ. हर्षवर्धन ने विश्वविद्यालय की अकादमिक उपलब्धियों की प्रशंसा भी की। कार्यक्रम में मणिपुर की राज्यपाल और जामिया की चासंलर डॉ. नजमा हेपतुल्ला और विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर प्रोफेसर तलत अहमद बी मौजूद थे।

जामिया का गौरवपूर्ण इतिहास

जामिया के कुलपति प्रोफेसर तलत अहमद ने कहा कि जामिया का इतिहास काफी गौरवपूर्ण रहा है। राष्ट्र के निर्माण में भी जामिया ने काफी महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उपलब्धियां गिनाते हुए उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 में ‘सोशल वर्क विभाग ने अपनी स्वर्ण जयंती मनाई है।

सत्र 2018-19 से नौ कोर्स शुरू किए गए

कुलपति ने कहा कि जामिया में सत्र 2018-19 से नौ पाठ्यक्रम शुरू किए गए हैं। इनमें मास्टर ऑफ लाइब्रेरी एंड इंफॉर्मेशन साइंस, साइबर स्पेस में स्नातोकत्तर डिप्लोमा जैसे पाठ्यक्रम शामिल हैं। उन्होंने कहा कि पहली बार किसी विश्वविद्यालय ने ऊर्जा को बचाने के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कदम उठाया है। इसके तहत जामिया ने सोलर एनर्जी कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

जब मंत्री ने चुप्पी साधी

कार्यक्रम के दौरान जामिया के अल्पसंख्यक संस्थान के दर्जे को लेकर पूछे गए सवाल पर केंद्रीय मंत्री ने चुप्पी साध ली। हाल ही में जामिया के अल्पसंख्यक संस्थान के दर्जे पर चर्चाएं उस समय तेज हो गईं थीं जब केंद्र सरकार ने 13 मार्च को जामिया मिलिया इस्लामिया के अल्पसंख्यक दर्जे पर कोर्ट में हलफनामा दिया था। इस हलफनामें में कहा गया था जामिया एक अल्पसंख्यक संस्थान नहीं है। इसे यूनिवर्सिटी संसद एक्ट के तहत स्थापित किया गया है। वहीं संस्थान का खर्च भी केंद्र सरकार उठाती है। इससे पहले साल 2011 में तत्कालीन मानव संसाधन मंत्री कपिल सिब्बल ने एनसीएमईआई के फैसले का समर्थन किया था और कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर जामिया के अल्पसंख्यक संस्थान होने की बात स्वीकारी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:jamia millia islamia : 75 % toppers gold medal winners are firl students