DA Image
21 जनवरी, 2021|4:35|IST

अगली स्टोरी

इनपुट : टीकाकरण पूर्वाभ्यास

default image

यूपी का इनपुट जोड़ा है और इंट्रो बनाया है

टीकाकरण : आज होगा इंतजाम का इम्तिहान

नए साल के पहले दिन सरकार ने बहु प्रतीक्षित कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी, वहीं पूरे देश ने टीकाकरण के पूर्वाभ्यास के लिए कमर कस ली है। भारत की आबादी और सघनता को देखते हुए यह निहायत जरूरी था कि वैक्सीन आने से पहले उसे संभालने और लगाने की पूरी प्रक्रिया के पेंच कस लिए जाएं। हर स्तर पर इसकी तैयारी अब पूरी हो चुकी है आज उसका पहला इम्तिहान है। एक रिपोर्ट

यूपी : पांच स्थानों में होगा टीकाकरण पूर्वाभ्यास

लखनऊ हिन्दुस्तान टीम

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में ही बाकी राज्यों की भांति दो जनवरी को कोरोना की वैक्सीन का पूर्वाभ्यास होगा। इसके लिए राजधानी के पांच प्रमुख अस्पतालों व मेडिकल कॉलेज का चयन कर उसे एक विशेष केन्द्र के रूप में विकसित किया गया है। प्रत्येक सेंटर पर एक टीम होगी। प्रत्येक सेंटर के हिसाब से 25 हेल्थ वर्कर को एसएमएस भेजकर अगले दिन टीकाकरण की सूचना भेजी जा रही है। अधिकारियों का कहना है कि पांच संस्थान पूर्वाभ्यास के लिए चुने गए हैं। इनमें केजीएमयू, पीजीआई, लोहिया संस्थान, सहारा हॉस्पिटल और माल के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का चयन किया गया है। विदित हो कि पूर्वाभ्यास में बस टीका नहीं लगेगा। बाकी की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। मसलन वैक्सीन के खाली बॉक्स विधिवत सुरक्षा के साथ अस्पतालों तक पहुंचाए जाएंगे। अफसर इंतजामों की निगरानी करेंगे। किसी भी तरह की कमी होने पर उसे दुरुस्त किया जाएगा।

अधिकारियों के मुताबिक प्रत्येक पूर्वाभ्यास के लिए प्रत्येक सेंटर के 25 स्वास्थ्य कर्मियों को एसएमएस भेजकर सूचना दी जा रही है। सेंटरों में तीन-तीन कमरे टीकाकरण के लिए आरक्षित किए गए हैं। पहले कमरा वेटिंग के लिए बनाया गया है। इसमें हेल्थ वर्कर की पूरी जानकारी का मिलान होगा। दूसरे में टीकाकरण होगा। तीसरे कक्ष में विशेषज्ञों की निगरानी में लाभार्थी को 30 मिनट रखा जाएगा ताकि किसी भी तरह की परेशानी होने पर उचित इलाज मुहैया कराया जा सके। टीकाकरण वाले कमरे में सिरिंज आदि रखी होंगी। इस्तेमाल सिरिंज को नष्ट करने की सुविधा होगी।

लखनऊ के ऐशबाग स्थित नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के निकट वैक्सीन सेंटर बनाया गया है। इसमें छह आईएलआर आ चुके हैं। दो आईएलआर पहले से हैं। इन्हें लगाकर भी देख लिया गया है। दो लाख 32 हजार डोज इसमें सुरक्षित रखी जा सकती है। पहले चरण के तहत लखनऊ में 55 से 60 हजार हेल्थ वर्कर को ही वैक्सीन लगाई जाएगी।

दिल्ली : तीन अस्पतालों में तैयारी

राजधानी दिल्ली में कोरोना के टीकाकरण की प्रक्रिया शुरू होने से पहले टीका लगाने की समूची व्यवस्था की पड़ताल के लिए शनिवार को पूर्वाभ्यास किया जाएगा। यह दिल्ली के तीन अस्पतालों में किया जायेगा। इनमें दिलशाद गार्डन स्थित गुरू तेग बहादुर अस्पताल, दरयागंज स्थित पीएचसी और वेंकटेश्वर अस्पताल शामिल हैं। स्वास्थय विभाग की टीमों से शुक्रवार को ही इसकी तैयारी कर ली है। अभ्यास के लिए वैक्सीन को कोल्ड चेन से इन केंद्रों तक पहुंचाने और लोगों को वैक्सीन लगाने के अलावा आधा घण्टे तक उन्हें निगरानी में रखने की पूरी प्रक्रिया दोहराई जायेगी। दरअसल, राजधानी दिल्ली में एक हजार बूथ पर वैक्सीन लगाई जाएंगी और हर बूथ पर एक दिन में 100 लोगों को वैक्सीन लगेगी।

कानपुर : 100 सेंटर सौ की टीम

स्थानीय प्रशासन ने अपनी ओर से तैयारी पूरी कर ली है और शासन से निर्देश मिलते ही टीमें काम पर जुट जाएंगी। यहां 100 कोरोना वैक्सीन सेंटर बनाए गए हैं। फिलहाल स्वास्थ्य विभग की सौ टीमों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। सभी टीमों में समन्वय बनाने और उनकी निगरानी करने के लिए नौ और टीमों को भी सक्रिय कर दिया गया है। टीकाकरण में शामिल होने वाली टीमों को पीपीई किट, सीरिंज और वैक्सीन बॉक्स शुक्रवार को ही उपलब्ध करा दिए गए थे। सीएमओ ने कहा- निर्देश मिलते ही टीकाकरण का पूर्वाभ्यास होगा। जहां समस्या होगी, वहां तत्काल पहुंचने को 12 टीमें अलग से तैयार हैं।

झारखंड : पांच जिलों में पूर्वाभ्यास होगा

झारखंड में कोरोना टीकाकरण शुरू करने के पहले शनिवार को होने वाले पूर्वाभ्यास की सभी तैयारी पूरी कर ली गयी है। झारखंड के पांच जिलों रांची, पलामू, पाकुड़, चतरा और पूर्वी सिंहभूम में पूर्वाभ्यास होगा। शुक्रवार को सभी जिलों के सिविल सर्जन, प्रखंडों को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को केंद्र और राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को अंतिम प्रशिक्षण दिया गया और डेमो के माध्यम से सभी बातों की जानकारी दी गयी।

प्रशिक्षण के दौरान वैक्सीनेशन के लिए आने वाले व्यक्ति के प्रवेश से लेकर निकास तक की पूरी प्रक्रिया के बारे में बताया गया। सभी को डेमो करके भी दिखाया गया ताकि किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो। इसके अलावा वैक्सीन के भंडार गृह से जिला और जिला से वैक्सीनेशन सेंटर तक पहुंचाने की व्यवस्था के बारे में भी विस्तार से बताया गया। पूर्वाभ्यास सभी केंद्रों में 25-25 स्वास्थ्यकर्मियों पर किया जाएगा।

उत्तराखंड : 317 कोल्ड चेन प्वाइंट तैयार

कोरोना टीकाकरण को लेकर उत्तराखंड ने अपनी तैयारियां पुख्ता कर ली हैं। राज्य में शनिवार दो जनवरी से कोरोना टीकाकरण को मॉक ड्रिल होगी। इसमें तैयारियों को परखा जाएगा। प्रभारी निदेशक स्वास्थ्य डॉ सरोज नैथानी ने बताया कि कोल्ड चेन मेनटेन करने के साथ ही बूथ तक लोगों को पहुंचाने, एसएमएस डिलिवर करने, टीकाकरण और उसके तीस मिनट तक बूथ में बिठाए रखने जैसे कार्यों का पूर्वाभ्यास होगा। उन्होंने बताया कि पहले चरण में 94 हजार स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना का टीका लगना है। इसके लिए राज्य में 317 कोल्ड चेन प्वाइंट बनाए गए हैं। हर जिले में स्कूलों में टीकाकरण बूथ बनाए जाने हैं। सभी डीएम से बूथों का चिह्नीकरण कर रिपोर्ट देने को भी कहा गया है। हालांकि राज्य में 279 ऐसे दूरस्थ क्षेत्र हैं, जहां आबादी को टीका पहुंचाना बड़ी चुनौती है। पुराने टीकाकरण अभियानों के आधार पर चिह्नित इन दुर्गम स्थानों की डीएम से रिपोर्ट मांगी गई है।