DA Image
Monday, December 6, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR नई दिल्लीभारत जल्द बनेगा उद्योग और सेवा का वैश्विक हब : पीयूष गोयल

भारत जल्द बनेगा उद्योग और सेवा का वैश्विक हब : पीयूष गोयल

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 06:50 PM
भारत जल्द बनेगा उद्योग और सेवा का वैश्विक हब : पीयूष गोयल

नई दिल्ली। प्रमुख संवाददाता

भारत जल्द ही उद्योग और सेवा के क्षेत्र में वैश्विक हब बनने जा रहा है। देश लोकल फॉर वोकल और मेक इन इंडिया के दम पर इस लक्ष्य को हासिल करेगा।

यह बातें 40वें अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले (आईआईटीएफ-2021) के उद्घाटन अवसर पर केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहीं। उन्होंने कहा कि भारतीय अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला (ट्रेड फेयर) 2019 की तुलना में तीन गुना क्षमता के साथ आयोजित हो रहा है। यह दर्शाता है कि भारत की अर्थव्यवस्था किस मजबूती से सुधार की तरफ अग्रसर है। दो वर्ष के बाद आयोजित हो रहा व्यापार मेला भी देश की अर्थव्यवस्था को गति देने का काम करेगा। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री ने यूपी के निर्यात कार्यक्रम की तारीफ भी की।

रविवार को प्रगति मैदान में आयोजित व्यापार मेले में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आज वैश्विक स्तर पर भारत की तरफ देखा जा रहा है। भारत को लेकर दुनिया का भरोसा बढ़ा है। वैश्विक महामारी के वक्त भारत की सप्लाई व्यवस्था ने बेहतर तरीके से काम किया। इसी का नतीजा है कि भारत ने विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) में बीते वर्ष की समान अवधि के मुकाबले करीब 62 प्रतिशत की ऐतिहासिक वृद्धि दर्ज की है। देश की अर्थव्यवस्था के पांच मुख्य स्तंभ है, जिनमें अर्थव्यवस्था, निर्यात, आधारभूत ढांचा, विविधता और मांग। मुझे यह कहते हुए खूशी हो रही है कि मौजूदा भारत इन पांचों मोर्चों पर बेहतर काम कर रहा है, जिससे भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए सुनहरा भविष्य दिखाई पड़ता है।

उन्होंने उत्तर प्रदेश का जिक्र करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने निर्यात विकास के लिए काफी काम किया है। एक जिला एक उत्पाद के जरिए स्थानीय उत्पादों को निर्यात के तौर पर बेहतर विकल्प मुहैया कराने का काम किया है। उन्होंने भारत सरकार द्वारा चलाए जा रहे कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम का भी जिक्र किया। विश्व का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन कार्यक्रम भारत में चल रहा। 110 करोड़ से अधिक डोज लग चुकी है। अगले वर्ष तक 500 करोड़ से अधिक वैक्सीन का उत्पादन किया जाना है। पांच से छह वैक्सीन भारत में तैयार हो रही है, जिनमें नाक से दी जानी वाली पहली वैक्सीन भी शामिल है। कोरोना महामारी के दौर में भारत वैक्सीन की सुरक्षा प्रदान कर रहा है जो देश का सबसे सुरक्षित स्थान बनाने में मदद करता है। इससे भारत की तरफ वैश्विक भरोसा बढ़ा है और निवेशक भारत की तरफ आ रहे हैं।

नारी शक्ति बनी अर्थव्यवस्था का हिस्सा

केंद्रीय मंत्री ने प्रगति मैदान में अपने उत्पादों के साथ पहुंचे 750 से अधिक महिला स्वयं सहायता समूह का भी उल्लेख किया। उन्होने कहा कि आत्मनिर्भर भारत मिशन के तहत महिलाओं को स्वरोजगार के अवसर मिले हैं, जिसके बाद वो देश की अर्थव्यवस्था का हिस्सा बन रही हैं। आज प्रगति मैदान में उनके उत्पाद भी बिक्री के लिए लाए गए हैं। पहली बार मेले में तीन हजार से अधिक स्टॉल लगाई गई है जिनमें काफी स्टॉल उन उद्योगों की है जिन्होंने एमएसएमई के तौर पर अपना स्वरोजगार खड़ा किया है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें