DA Image
8 मई, 2021|7:07|IST

अगली स्टोरी

पिछले 3 साल में ढाई गुना बढ़ा अवसाद के मरीजों का मशीन से इलाज

depression patient

अवसाद (डिप्रेशन) जैसे मनोरोग को दूर करने के लिए मशीन का इस्तेमाल पिछले तीन साल में ढाई गुना बढ़ गया है। अवसाद के इलाज में जब दवा काम नहीं करती है तो  ‘मैग्नेटिक ब्रेन स्टिमुलेशन’ मशीन के जरिए इलाज किया जा रहा है।

एम्स के मनोचिकित्सा विभाग के प्रोफेसर डॉक्टर नंद कुमार ने बताया कि सरकारी अस्पतालों में यह मशीन एम्स में उपलब्ध है। तीन साल पहले प्रतिदिन लगभग चार मरीजों का ‘मैग्नेटिक ब्रेन स्टिमुलेशन’ मशीन के जरिए इलाज किया जाता था, लेकिन अब रोजाना आठ से 10 मरीजों के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। 

गर्भवती के लिए बेहद जरूरी : प्रोफेसर नंद कुमार के मुताबिक गर्भवती महिलाओं में बच्चा जनने के बाद अवसाद के मामले बढ़ जाते हैं। उन्होंने एक शोध के हवाले से बताया कि 15 फीसदी गर्भवती महिलाएं अवसाद का शिकार होती हैं। ऐसे में उन्हें दवा देना आसान नहीं होता। उनके लिए यह मशीन उपयोगी है।

दवा से ठीक नहीं होने वालों का भी उपचार : प्रोफेसर डॉक्टर नंद कुमार ने बताया कि हाल ही में जम्मू-कश्मीर से अमित नामक 50 वर्षीय मरीज आया था। उसे दवा लेने के बाद भी आराम नहीं मिला। दो हफ्ते तक उसका ‘मैग्नेटिक ब्रेन स्टिमुलेशन’ मशीन के जरिए इलाज करने पर अवसाद में 90 फीसदी की कमी आई।

अवसाद के लक्षण

चिड़चिड़ापन
ठीक से नींद नहीं आना
मन उदास रहना
भूख कम या अधिक लगना
थकावट महसूस
डर या घबराहट
रोने का मन करना
सामाजिक संपर्क से बचना 

ट्रैफिक पुलिस के इस कदम से लोगों को मिलेगी ट्रैफिक जाम से निजात

ऐसे काम करती है मशीन
चुंबकीय शक्ति का प्रयोग करने वाली इस मशीन पर मरीज को तीन से 30 मिनट तक बैठना जाता है। यह मशीन दिमाग के भावनाओं से जुड़े संज्ञानात्मक हिस्से में रक्त की आपूर्ति तेज कर  देती है। इस प्रक्रिया में मरीज को एनेस्थीसिया देने या बेहोश करने की जरूरत नहीं होती है।

इन तकनीकों से उपचार होता है 

ट्रांसमैग्नेटिक स्टिम्युलैशन 
इसमें बेहद कम वेग की न्यूरोमैगनेटिक तरंगों को मस्तिष्क के प्रभावित जगह पर पहुंचाया जाता है। एक विशेष उपकरण को सिर के ऊपर रखकर तरंगों को मस्तिष्क में प्रवाहित किया जाता है। साधारण एंजाइटी, डिप्रेशन, लंबे समय के दर्द को इससे सही किया जा सकता है।

वीगस नर्व स्टिम्युलैशन 
एपिलेप्सी के इलाज के लिए इस तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें मस्तिष्क की ऊपरी सतह पर छोटे से उपकरण को लगाया जाता है, जो मस्तिष्क को जरूरी संदेश भेजता है। लंबे समय के डिप्रेशन का इलाज भी वीएनएस से संभव है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:In the last 3 years two and a half times depression patients treated with machine than before