अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुत्तों के नसबंदी का वीडियोग्राफी कराने का आदेश

राजधानी में कुत्तों की तेजी से बढ़ती जनसंख्या पर को हाईकोर्ट ने चिंताजनक बताया। हाईकोर्ट ने इसे गंभीरता से लेते हुए दक्षिणी दिल्ली नगर निगम को कुत्तों की नसबंदी का वीडियोग्राफी कराने का आदेश दिया है। हालांकि नगर निगम ने हाईकोर्ट में दावा किया था कि कुत्तों की जनसंख्या में कमी आ रही है।

कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल और न्यायमूर्ति सी. हरि. शंकर की पीठ ने कहा कि वीडियोग्राफी से यह सुनिश्चित होगा कि कुत्तों का नसबंदी हो गया है। राजधानी में कई गैर सरकारी संगठनों के माध्यम से नगर निगम कुत्तों का नसबंदी कराती है। हाईकोर्ट ने यह आदेश तब दिया जब दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने कहा कि उसने कुत्तों के नसबंदी का गैर सरकारी संगठन को सौंप दिया है। साथ ही कहा कि जिस कुत्ते का नसबंदी किया जाता है उसके कान पर एक चिरा लगा दिया जाता है। इस पर हाईकोर्ट ने कहा है कि नगर निगम कैसे सुनिश्चित कर सकता है कि नसबंदी सही तरीके से हो गया, खासकर तब जब राजधानी में कुत्तों की जनसंख्या बढ़ रहा हो। अब इस मामले की सुनवाई 23 अप्रैल को होगी। हाईकोर्ट ने यह आदेश तेहखंड गांव के लोगों की ओर से दाखिल जनहित याचिका पर दिया है। याचिका में इलाके में कुत्तों के लिए अस्पताल खोलने की मांग की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:high court