DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नामी बदमाश को पकड़वाने में गार्ड ने की पुलिस की मदद

दिल्ली पुलिस की प्रहरी योजना का असर दिखने लगा। आनंद विहार इलाके के एक अपार्टमेंट के गार्ड रंजीत ने बुधवार रात एक नामी बदमाश को गिरफ्तार करवाने में अहम भूमिका निभाई। पुलिस ने आरोपी 20 वर्षीय बंटी के पास से एक दर्जन से ज्यादा मोबाइल जब्त किए हैं। शाहदरा जिला पुलिस प्रहरी योजना के तहत बीते कुछ समय से इलाके में काम करने वाले गार्ड को ट्रेनिंग दे रही है। दरअसल, पुलिस बुधवार देर रात आरोपी बंटी का पीछा कर रही थी। इस दौरान बंटी अंधेरे का फायदा उठाते हुए आनंद विहार के जागृति एंक्लेव में घुस गया और वहां से भागने की कोशिश करने लगा। पुलिसकर्मियों ने इस बात की जानकारी सोसाइटी के गार्ड रंजीत को भी दी। पुलिस से मिली सूचना के बाद गार्ड रंजीत ने तुरंत सोसाइटी के सभी गेट बंद कर दिए। इसके बाद पुलिस और रंजीत आरोपी बंटी को सोसाइटी के अंदर और बाहर तलाश लगे। आधे घंटे बाद भी जब बंटी नहीं मिला तो पुलिस को लगा कि वह अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गया है। इसी दौरान गार्ड रंजीत को सोसाइटी के पार्किंग इलाके में कुछ अजीब सी हरकत दिखी। उसने वहां जाकर देखा तो आरोपी बंटी एक सेंट्रो कार के नीचे छिपा था। रंजीत ने तुरंत यह जानकारी पुलिसकर्मियों को दी। इसके बाद पुलिस ने आरोपी बंटी को मौके से गिरफ्तार कर लिया। 35 से ज्यादा वारदात कर चुका है आरोपी : पुलिस के अनुसार, शुरुआती जांच में पता चला है कि आरोपी बंटी के खिलाफ विभिन्न थानों में 35 से ज्यादा झपटमारी के मामले दर्ज हैं। पुलिस पूछताछ में बताया कि बंटी ने बताया कि वह खास तौर पर रात के समय ही वारदातों को अंजाम देता था। इस दौरान उसके निशाने पर हैंड बैग और मोबाइल लेकर चलने वाले लोग होते थे। पहले पुलिस से डर लगता था: गार्ड रंजीत जागृति एंक्लेव में तैनात गार्ड रंजीत ने बताया कि उसे पहले दिल्ली पुलिस से डर सा लगता था। मगर प्रहरी योजना के तहत मिली ट्रेनिंग के दौरान उसे लगा कि वह भी समय आने पर पुलिस की मदद कर सकता है। उन्होंने बताया कि बुधवार देर रात जब पुलिस ने सोसाइटी में बदमाश के घुसने की सूचना दी तो वह भी अपने स्तर पर भी बगैर डरे उसकी तलाश में जुट गया और बदमाश पकड़ा गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:guard