DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › नई दिल्ली › विदेश::: मानवाधिकारों पर चुनिंदा घोषणाएं अनैतिक हैं: इमरान खान
नई दिल्ली

विदेश::: मानवाधिकारों पर चुनिंदा घोषणाएं अनैतिक हैं: इमरान खान

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 11:20 PM
विदेश::: मानवाधिकारों पर चुनिंदा घोषणाएं अनैतिक हैं: इमरान खान

इस्लामाबाद। एजेंसी

चीन के अशांत शिनजियांग प्रांत में उईगुर मुसलमानों के मानवाधिकार उल्लंघन के आरोपों के बारे में प्रधानमंत्री इमरान खान ने सोमवार को कहा कि मानवाधिकारों पर चुनिंदा घोषणाएं अनैतिक हैं।

लंदन की ऑनलाइन समाचार संस्था 'मिडिल ईस्ट आई' (एमईई) को दिए साक्षात्कार में खान ने इजरायल को मान्यता देने में खाड़ी देशों के दबाव से इनकार किया। खान ने कहा कि अफगानिस्तान में तालिबान के साथ अंतरराष्ट्रीय समुदाय के संपर्क स्थापित नहीं करने से देश 20 वर्ष पीछे चला जाएगा। उन्होंने पाकिस्तान और चीन के बीच 70 वर्ष पुराने संबंध को समय की कसौटी पर जांचा-परखा बताया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने उईगुर मुद्दे पर चीन से बात की है और इसे जवाब भी मिला है। उन्होंने कहा, हमारे और चीन के बीच एक समझ है। हम एक-दूसरे से बंद दरवाजे में बात करेंगे क्योंकि यह उनकी प्रकृति और संस्कृति है। अमेरिका और ब्रिटेन ने शिनजियांग में उईगुर मुसलमानों के साथ कथित बर्ताव को लेकर चीन की आलोचना की है और कुछ शीर्ष अधिकारियों ने इसे नरसंहार करार दिया है। बीजिंग पर संसाधनों से संपन्न प्रांत में अल्पसंख्यक मुसलमानों से जबरन मजदूरी कराने, जबरन जन्म नियंत्रण लागू करने, उत्पीड़न और जेल में बंद माता-पिता से उनके बच्चों को अलग करने के आरोप हैं। तालिबान ने छह सितंबर को पंजशीर पर कब्जा के बाद पूरे अफगानिस्तान पर नियंत्रण करने की घोषणा की और तब से यह समूह अपनी सरकार को अंतरराष्ट्रीय मान्यता देने की अपील कर रहा है।

----

क्रिकेट: कोई भी भारत के साथ ऐसा करने की हिम्मत नहीं करेगा

न्यूजीलैंड और इंग्लैंड द्वारा पाकिस्तान के साथ क्रिकेट दौरा रद्द करने पर इमरान खान ने कहा कि कोई भी शक्ति भारत के साथ ऐसा करने की हिम्मत नहीं करेगा। सोमवार को मिडिल ईस्ट आई के साथ एक साक्षात्कार में खान ने कहा, भारतीय क्रिकेट बोर्ड की शक्ति और वित्तीय संसाधनों के कारण कोई भी भारत के साथ ऐसा करने की हिम्मत नहीं करेगा। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि इंग्लैंड और न्यूजीलैंड क्रिकेट टीमों ने दौरे रद्द करके खुद को निराश किया है। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि इंग्लैंड में अब भी यह भावना है कि वे पाकिस्तान जैसे देशों के लिए खेलकर एक महान उपकार करते हैं।

संबंधित खबरें