DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › नई दिल्ली › एनडीएफबी उग्रवादियों पर दर्ज गैर संज्ञेय अपराधों के मामलों का निस्तारण शीघ्र : हिमंत
नई दिल्ली

एनडीएफबी उग्रवादियों पर दर्ज गैर संज्ञेय अपराधों के मामलों का निस्तारण शीघ्र : हिमंत

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Newswrap
Fri, 30 Jul 2021 11:50 PM
एनडीएफबी उग्रवादियों पर दर्ज गैर संज्ञेय अपराधों के मामलों का निस्तारण शीघ्र : हिमंत

एनडीएफबी उग्रवादियों पर दर्ज गैर संज्ञेय अपराधों के मामलों का निस्तारण शीघ्र : हिमंत

गुवाहाटी। असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व सरमा ने शुक्रवार को घोषणा की कि नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड (एनडीएफबी) के आत्मसमर्पण कर चुके उग्रवादियों पर दर्ज गैर संज्ञेय अपराधों के मामलों का शीघ्र निस्तारण कर दिया जाएगा। सभी एनआईए मामले पुलिस को सौंप दिए जाएंगे।

सरमा ने यह भी कहा कि असम सरकार पिछले दुर्दांत उग्रवादी संगठन एनडीएफबी के सभी धड़ों के आत्मसमर्पण कर चुके उग्रवादियों के पुनर्वास पर 160 करोड़ रुपये खर्च करेगी।

मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी एक बयान में कहा गया है, अनुकूल माहौल बनाने के लिए एनडीएफबी कार्यकर्ताओं पर दर्ज गैर संज्ञेय अपराधों के मामलों का बहुत जल्द निस्तारण किया जाएगा। सरमा ने कहा, शांति प्रक्रिया से अब तक दूर रहे असंतुष्ट समूह अब बोडो क्षेत्र में स्थायी शांति के लिए सरकार की मदद करने के लिए मुख्य धारा में आने लगे हैं। एनडीएफबी के आत्मसमर्पण कर चुके कार्यकर्ताओं को जरूरी एवं वाछित अर्हता के अनुसार विभिन्न सरकारी रिक्तियों में भी लिया जाएगा। ऑल बोर्ड स्टूडेंट यूनियन के पूर्व अध्यक्ष बासुमतारी को श्रद्धांजलि देने के एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने बोडोलैंड आंदोलन में मारे गए व्यक्तियों के परिवारों को पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की भी घोषणा की। (एजेंसी)

संबंधित खबरें