class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीयू के नॉर्थ कैंपस में स्पर्श मार्ग पर बाधा को लेकर हाईकोर्ट नाराज

नई दिल्ली। प्रमुख संवाददाता

दिल्ली विश्वविद्यालय के नॉर्थ कैंपस में खास तौर पर दिव्यांगों के लिए बनाए गए स्पर्श मार्ग पर गड्ढों, खंभों और पटरी दुकानों को लेकर मंगलवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने नाराजगी जताई है। हाईकोर्ट ने नगर निगम के अधिकारियों की इस गलती को आपराधिक अनदेखी माना है।

कार्यवाहक चीफ जस्टिस गीता मित्तल और जस्टिस सी हरि शंकर की पीठ ने स्पर्श पथ के खंभों, होर्डिंग और साइनबोर्ड जैसी बाधाओं से भरे होने को बेहद व्यथित करने वाला बताया। कोर्ट ने कहा कि फुटपाथ पर स्पर्श चिन्ह बना हुआ है जो किसी पेड़ या खंभे से टकराने तक हैं। पीठ ने कहा कि यह संबंधित शख्स की आपराधिक लापरवाही है। हाईकोर्ट ने उत्तरी दिल्ली नगर निगम को निर्देश दिया है कि वह अपने उन अधिकारियों का विवरण दे जिन्होंने इसकी डिजाइन और योजना को मंजूरी दी, निविदाएं दीं, ठेकेदारों का चयन किया और काम के लिए भुगतान किया है। पीठ ने कहा कि दिव्यांगों की तो बात ही छोड़िए इन बाधाओं से किसी भी पैदलयात्री को आने-जाने में दिक्कत होती है।

हाईकोर्ट ने सभी नगर निकायों को निर्देश दिया कि वे इस बात का ध्यान रखें कि दिव्यांगों के लिए तैयार की गई यह सुविधा किसी भी तरह से बाधित न हो। मामले में अगली सुनवाई 11 जनवरी को तय की गई है। हाईकोर्ट ने प्रशासनिक लापरवाही पर सख्त एतराज जताते हुए सुधार के निर्देश दिए हैं। पीठ ने यह भी कहा है कि अगर इसमें जल्द सुधार नहीं किया गया तो हाईकोर्ट सख्त आदेश जारी करेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:DU
तुर्की के झूमर और अफगान के मेवे का क्रेजबाल दिवस पर डा. मंगू सिंह सम्मानित