DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंतरराज्यीय ड्रग तस्कर साथी सहित गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने अंतरराज्यीय गिरोह के ड्रग तस्कर को एक साथी समेत गिरफ्तार किया है। तस्कर मध्य प्रदेश का रहने वाला है। यह कई वर्षों से धंधे में लिप्त है। दोनों से मिली जानकारी के आधार पर पुलिस नेटवर्क से जुड़े अन्य तस्करों की तलाश में छापेमारी कर रही है। गिरफ्तार आरोपियों में 46 वर्षीय विनय जैन उर्फ सेठ और उसके साथ काम करने वाला सुखविंदर शामिल है। सुखविंदर पंजाब के लुधियाना का रहने वाला है। वह विनय के साथ पिछले कुछ समय से जुड़ा है। उसके निर्देश पर वह माल इधर से उधर पहुंचाता था। इनके कब्जे से उम्दा क्वालिटी की चार किलोग्राम हेरोइन और 10 किलोग्राम अफीम बरामद किया गया है। इसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब 20 करोड़ रुपये बताई जा रही है। स्पेशल सेल ने पिछले कुछ दिनों से ड्रग तस्करों के खिलाफ अभियान छेड़ रखा है। दस गिरोह का पर्दाफाश भी किया है। साथ ही कई लोगों की गिरफ्तार भी की है। डीसीपी संजीव यादव ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि मध्य प्रदेश के रतलाम इलाके का एक ड्रग तस्कर मणिपुर से अपने नेटवर्क के जरिये ड्रग मंगाता है। उसे ट्रक ड्राइवरों के जरिये दिल्ली-एनसीआर, यूपी, मध्य प्रदेश व पंजाब और हरियाणा में भेजता है। चार महीने की निगरानी के बाद दबोचा : डीसीपी ने बताया कि सूचना के बाद सेल की एक टीम को इस तस्कर के पीछे लगाया गया। चार महीने तक गिरोह के पीछे चली निगरानी के बाद पुलिस ने अंतत: यह पता चला कि ड्राइवर सुखविंदर आजादपुर फल मंडी भारी मात्रा में ड्रग के साथ आने वाला है। पुलिस की टीम ने ट्रक नंबर के जरिये सुखविंदर की पहचान की। उसे आजादपुर मार्केट के समीप से गिरफ्तार कर लिया। ड्राइवर केबिन की कैविटी में रखा था पुलिस के मुताबिक जब सुखविंदर को दबोचा गया और ट्रक की तलाश की गई तो पता चला कि उसने ड्राइवर केबिन में ड्रग छिपाने के लिए खासतौर से एक कैविटी बनवाया था। इसमें ही वह ड्रग लेकर विनय जैन के निर्देश पर विभिन्न इलाकों में इसकी सप्लाई करता था। विनय पहले से ही नेटवर्क से संपर्क कर उसे बता देता था कि इस नंबर की ट्रक का ड्राइवर माल पहुंचाएगा। पूछताछ में उसने बताया कि वह एक वर्ष से विनय के लिए काम कर रहा है। सरगना 20 साल से इस धंधे में : ड्राइवर के पकड़े जाने के बाद पुलिस ने गिरोह के सरगना विनय जैन को धर दबोचा। पूछताछ में पता चला कि वह पिछले 20 वर्ष से तस्करी के धंधे में लिप्त है। वह यूपी, एमपी व पंजाब में चार बार पकड़ा भी जा चुका है। लेकिन हर बार बाहर निकलने के बाद वह ड्रग तस्करी में लिप्त हो जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:drug dealer arrested