ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR नई दिल्लीडोलो 650 निर्माता और पांच फार्मा कंपनियों के दिए उपहारों का ब्योरा तलब

डोलो 650 निर्माता और पांच फार्मा कंपनियों के दिए उपहारों का ब्योरा तलब

एनएमसी ने आईटी विभाग से डॉक्टरों को दिए गए मुफ्त उपहारों का विवरण मांगा

डोलो 650 निर्माता और पांच फार्मा कंपनियों के दिए उपहारों का ब्योरा तलब
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीSat, 06 Aug 2022 04:00 AM
ऐप पर पढ़ें

नई दिल्ली, एजेंसियां

राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (एनएमसी) ने आयकर विभाग से उन डॉक्टरों का ब्योरा मांगा है, जिन्हें डोलो 650 बनाने वाली माइक्रो लैब्स समेत छह फार्मा कंपनियों से कथित तौर पर मुफ्त उपहार मिले थे। इनके खिलाफ पिछले महीने छापेमारी की गई थी।

आयकर विभाग के लिए प्रशासनिक निकाय ‘केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने जुलाई में व्यापक रूप से उपयोग किए जाने वाले डोलो-650 टैबलेट के निर्माताओं पर ‘अनैतिक कृत्यों में लिप्त होने और डॉक्टरों को लगभग 1000 करोड़ रुपये का मुफ्त वितरण करने का आरोप लगाया था। आयकर विभाग ने 6 जुलाई को नौ राज्यों में बेंगलुरु स्थित माइक्रो लैब्स लिमिटेड के 36 परिसरों पर छापेमारी की थी।

3 अगस्त को एक पत्र में एनएमसी ने सीबीडीटी के अध्यक्ष नितिन गुप्ता से ‘नामों को पंजीकरण संख्या और शामिल डॉक्टरों के पते के साथ भेजने का अनुरोध किया ताकि उन विवरणों को सूचना और आवश्यक कार्रवाई के लिए संबंधित राज्य चिकित्सा परिषदों को भेजा जा सके।

एनएमसी के एथिक्स एंड मेडिकल रजिस्ट्रेशन बोर्ड (ईएमआरबी) के सदस्य डॉ योगेंद्र मलिक ने पत्र में समय-समय पर संशोधित भारतीय चिकित्सा परिषद (व्यावसायिक आचरण, शिष्टाचार और नैतिकता) विनियम, 2002 की धारा 6.8 की ओर ध्यान आकर्षित किया, जो फार्मास्युटिकल और संबद्ध स्वास्थ्य क्षेत्र के उद्योग के साथ अपने संबंधों में डॉक्टरों के लिए आचार संहिता निर्धारित करता है।

epaper