ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR नई दिल्लीदिल्ली में नहीं रुक रहा कोरोना विस्फोट, 24 घंटे में 22,751 नए मामले सामने आए; 17 की मौत

दिल्ली में नहीं रुक रहा कोरोना विस्फोट, 24 घंटे में 22,751 नए मामले सामने आए; 17 की मौत

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 22,751 नए मामले सामने आए हैं और इस दौरान 17 लोगों ने...

दिल्ली में नहीं रुक रहा कोरोना विस्फोट, 24 घंटे में 22,751 नए मामले सामने आए; 17 की मौत
Amit Kumarलाइव हिन्‍दुस्‍तान,नई दिल्लीSun, 09 Jan 2022 08:21 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 22,751 नए मामले सामने आए हैं और इस दौरान 17 लोगों ने अपनी जान गंवाई। दिल्ली में आज 22,751 मामले दर्ज किए गए, जो कल की संख्या (20,181) से 12 प्रतिशत अधिक है। इस दौरान दिल्ली में संक्रमण दर 23.53 प्रतिशत पहुंच गई है। वहीं पिछले साल 16 जून के बाद से एक दिन में सबसे ज्यादा कोविड की मौतें हुई हैं। शुक्रवार को, दिल्ली में 17,335 नए कोविड मामले दर्ज किए थे, जबकि गुरुवार को शहर में 15,097 मामले आए थे। 

दिल्ली में सक्रिय मामले: 60,733
कुल ठीक हुए मरीज: 14,63,837
आज का पॉजिटिविटी रेट: 23.53%

इससे पहले दिन में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोई कोविड लॉकडाउन नहीं होगा लेकिन लोगों को प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक जगहों पर फेस मास्क पहनें और सामाजिक दूरी बनाए रखें। दिल्ली में शनिवार को कोविड-19 के 20,181 नए मामले मामले आए थे और 19.6% संक्रमण दर थी।  

'दिल्ली सरकार की कम से कम पाबंदियां लगाने की कोशिश'

दिल्ली सरकार ने रविवार को यह कहते हुए प्रवासी श्रमिकों एवं व्यापारियों का डर कम करने का प्रयास किया कि रोजी-रोटी बचाने के लिए उसकी कोशिश है कि लॉकडाउन नहीं लगे और कम से कम कोविड पाबंदियां लगायी जाएं। राष्ट्रीय राजधानी में पिछले कुछ दिनों से कोविड-19 रोजाना मामले तेजी से बढ़े हैं। प्रवासी श्रमिकों को 2020 तथा पिछली कोविड लहर की भांति लॉकडाउन लग जाने का अंदेशा है, ऐसे में उन्हें अपनी कमाई पर गहरी मार पड़ने एवं गंभीर वित्तीय संकट में फंस जाने का डर सता रहा है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने संवाददाता सम्मेलन में इस बात पर जोर दिया कि अस्पतालों में मरीजों की भर्ती की दर कम है और यदि सभी लोग मास्क लगाते हैं तो लॉकडाउन की जरूरत नहीं पड़ेगी। उन्होंने कहा, '' कोविड के बढ़ते मामले चिंता का विषय है लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है। बहुत कम लोग अस्तपाल में भर्ती किये जा रहे हैं । मास्क लगाना महत्वपूर्ण है। यदि आप मास्क लगाते रहेंगे तो लॉकडाउन नहीं होगा। फिलहाल लॉकडाउन लगाने की कोई योजना नहीं है।''

दिल्ली सरकार कोरोना वायरस के प्रसार को थामने के लिए पहले ही रात्रिकर्फ्यू और सप्ताहांत कर्फ्यू समेत कई पाबंदियां घोषित कर चुकी हैं। केजरीवाल ने कहा कि वह और दिल्ली के राज्यपाल एवं केंद्र कोविड की स्थिति पर कड़ी नजर बनाये हुए हैं। उन्होंने कहा, '' हमारी कोशिश कम से कम पाबंदियां लगाना है ताकि रोजीरोटी प्रभावित न हो।'' दिल्ली  में शनिवार को कोविड के 20181 मामले सामने आये और सात मरीजों की जान चली गयी। शुक्रवार को 17335 कोविड-19 मामले सामने आये थे। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बार बार कहा है कि ज्यादातर कोविड-19 मरीज हल्के या बिना लक्षण वाले हैं और उन्हें अस्पताल लाने की जरूरत नहीं पड़ रही है। 

(भाषा इनपुट)

epaper