DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खौफनाक : बेटे ने ही मां-बाप और बहन को मार डाला, पढ़ाई के लिए पिता की डांट से था गुस्सा

family stabbed to death

वसंतकुंज के किशनगढ़ इलाके में बुधवार को दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। पढ़ाई को लेकर पिता की डांट-फटकार से गुस्साए 19 साल के बेटे ने अपने मां-बाप और बहन की चाकू गोदकर हत्या कर दी। इतना ही नहीं उसने शोर मचाकर इसे लूट का मामला बनाने की कोशिश की। पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तो वह टूट गया और सच्चाई बयां कर दी। देर रात आरोपी सूरज को गिरफ्तार कर लिया गया।

जानकारी के मुताबिक 45 वर्षीय मिथलेस पत्नी सिया, बेटी नेहा और बेटे सूरज के साथ किशनगढ़ गांव में रहते थे। वह ठेके पर इंटीरियर डेकोरेटर का काम करते थे। बुधवार तड़के 4.45 बजे सूरज ने अपनी बालकनी में आकर शोर मचाया कि उसके घर में चोरी के इरादे से घुसे बदमाशों ने उसके मां-बाप की हत्या कर दी है। चीख-पुकार सुनकर पड़ोसी पिंटू और अतुल ने घर का गेट खुलवाया और अंदर जाकर देखा। जहां एक कमरे में नेहा बिस्तर पर और सिया फर्श पर पड़ी थी। दोनों को चाकू से करीब 4 से 5 बार गोदा गया था। 

चिंताजनक : वैश्विक तापमान ऐसे ही बढ़ता रहा तो चौपट हो जाएगी खेती 

सूरज ने पिंटू को बताया कि पिता मिथलेस दूसरे कमरे में हैं। दोनों ने  मिथलेस को उठाने की कोशिश की, लेकिन उनकी मौत हो चुकी थी। उन्हें भी कई बार चाकू से गोदा गया था। पिंटू ने मामले की सूचना पुलिस को दी। पुलिस की पूछताछ में सूरज ने बताया कि कुछ बदमाश घर में घुस आए थे और उन्होंने उसकी भी पिटाई की, जिससे वह बेहोश हो गया। इसके बाद आरोपियों ने उसके परिजनों की हत्या की और फरार हो गए।

लूट की कहानी गढ़ी

पुलिस उपायुक्त देवेंद्र आर्य ने बताया कि सूरज ने लूट की बात कही थी लेकिन जांच में यह गलत साबित हुई। घर में सारा सामान तो फैला हुआ था, लेकिन तिजोरी बंद थी, उसे तोड़ने का कोई प्रयास नहीं किया गया। दोनों मां बेटी द्वारा पहने हुए गहने व घर में रखे लोगों के मोबाइल फोन भी पुलिस को घर से ही बरामद हुए हैं। ऐसे में सूरज द्वारा बताई लूट की कहानी पर शक हुआ। 

LPG की बढ़ती कीमतों के बीच अब सरकार किस्तों पर देगी इंडक्शन चूल्हा

आरोपी ने जुर्म कबूला

पुलिस की पूछताछ के दौरान आरोपी सूरज ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। इसके बाद पुलिस ने देर रात उसे गिरफ्तार कर लिया। सूरज ने पुलिस को बताया कि घरवाले उसे टोकते थे। बहन परिजनों से शिकायत करती थी। वह कॉलेज जाने के बजाय किराये के एक कमरे में जाता था। बुधवार सुबह उसने गुस्से में आकर अपने ही परिजनों की हत्या कर दी। 

ऑनलाइन शॉपिंग : बंपर छूट पर आंख मूंदकर भरोसा करना ठीक नहीं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:delhi kishangarh murder three family members of same stabbed to death by their own son