DA Image
7 जून, 2020|1:58|IST

अगली स्टोरी

केजरीवाल सरकार का फैसला, कोरोना मरीजों का इलाज करने वाले होटल में रहेंगे

medical officers wearing protective suits outside the special isolation ward of coronavirus patients

कोरोना से पीड़ित मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टरों को सरकार निजी होटल में ठहराएगी। डॉक्टर और नर्स इलाज के बाद घर के बजाए होटल में ठहरेंगे, ताकि उनके परिवारों में संक्रमण का कोई खतरा न हो। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने इस बाबत आदेश जारी किया है। सरकार इलाज कर रहे डॉक्टरों को बारी-बारी से 14-14 दिनों के लिए क्वारंटाइन में भी भेजेगी।

स्वास्थ्य मंत्री ने यह आदेश फिलहाल लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल (एलएनजेपी) और जीपी पंत अस्पताल में तैनात डॉक्टरों के लिए जारी किया है। मध्य जिले के डीएम को इनके लिए कनॉट प्लेस स्थित पांच सितारा ललित होटल में 100 कमरे बुक करने का आदेश दिया गया है। ड्यूटी के बाद ये डॉक्टर इसी होटल में ठहरेंगे। इसका सारा खर्च दिलली सरकार उठाएगी।

डॉक्टरों का अहम योगदान: सरकार का कहना है कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में सबसे आगे डॉक्टर खड़े हैं। उनकी और उनके परिवार की सुरक्षा सरकार की जिम्मेदारी है, इसलिए इन दो अस्पतालों में जहां कोरोना से पीड़ति मरीजों का इलाज चल रहा है, वहां तैनात डॉक्टर घर की बजाए इस होटल में रहेंगे, ताकि उनके परिवार में संक्रमण फैलने का खतरा ना हो।

बता दें कि 29 मार्च तक कोरोना वायरस के मरीजों की कुल संख्या 72 तक पहुंच गई थी। एलएनजेपी और जीबी पंत अस्पताल में भी कोरोना वायरस से पीड़ति मरीजों के इलाज की व्यवस्था की गई है। यहां पर 100 से अधिक आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं। इसके अलावा एलएनजेपी अस्पताल प्रशासन इमरजेंसी की स्थिति में अंबेडकर स्टेडियम और फिरोजशाह कोटला मैदान को भी कोरेनटाइन सेंटर में तब्दील कर सकता है।

राजधानी में कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज में जुटी डॉक्टरों की टीम, नर्स और पैरामेडिकल स्टाफ अब दो शिफ्ट में काम करेंगे। स्वास्थ्य विभाग ने निर्देश जारी कर अगले 14 दिनों तक इन्हें नियमित काम करने का आदेश दिया है। दिल्ली की स्वास्थ्य सचिव पद्मिनी सिंगला ने निर्देश जारी करते हुए कहा कि अगले 14 दिनों तक कोरोना वायरस से जुड़े मरीजों की देखभाल कर रहे डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ सुबह 8 से शाम 6 बजे तक और शाम 6 बजे से सुबह 8 बजे तक दो शिफ्ट में काम करेंगे। सुबह की शिफ्ट 10 घंटे की होगी, जबकि शाम की शिफ्ट 14 घंटे की होगी। 14 दिन के काम करने के बाद इन्हें 14 दिनों का आराम दिया जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:coronavirus doctors who will do treatment of covid 19 patients will live in hotels