DA Image
29 मई, 2020|11:35|IST

अगली स्टोरी

दिल्ली में जहां-जहां गए मरकज के जमाती, सभी जगह होंगी सील

                                         -

दिल्ली में कोरोना मरीजों के बढ़ते आंकड़े के लिए मरकज सबसे अधिक जिम्मेदार है। मरकज में आए लोगों की वजह से यह संक्रमण और न फैले, इस दिशा में काम शुरू कर दिया है। मरकज के लोग बीते दिनों दिल्ली के जिन-जिन इलाकों में गए, वहां की कॉलोनी, घर, गली को सील किया जाएगा।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ऐसे इलाकों की जानकारी जुटाने के लिए तकनीक के जरिए पता किया जा रहा है कि पिछले दिनों मरकज के लोग कहां-कहां गए। उन्होंने कहा कि कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए संक्रमित लोगों के संपर्क में आएं लोगों को चिन्हित करना सबसे अधिक जरूरी है। 

दिल्ली में अभी तक सबसे अधिक संक्रमित मरकज के 320 लोग आए हैं। मरकज से खाली कराकर क्वारंटाइन या अस्पताल में रखे गए लोगों के मोबाइल नंबर की मदद से अन्य लोगों का पता लगाया जा रहा है।

पुलिस ने मोबाइल मैपिंग शुरू की

निजामुद्दीन स्थित मरकज़ के मौलाना और अन्य प्रबंधकों से जांच में सहयोग नहीं मिलने पर पुलिस ने लोगों के मोबाइल की मैपिंग शुरू कर दी है। इसके जरिये पुलिस पता लगाने की कोशिश कर रही है कि जमात में शामिल होने के लिए कितने लोग आए थे और कितने पुलिस कार्रवाई से पहले वहां से जा चुके थे। पुलिस अब तक तीन हजार लोगों से संपर्क कर चुकी है, जो जमात के कार्यक्रम के दौरान मरकज के आस-पास मौजूद थे। पुलिस ने इन सभी लोगों को फोन कर उनकी पहचान की है। इनमें वे लोग भी शामिल हैं, जो कार्यक्रम के दौरान मरकज के पास काम से गए थे या उनके घर वहां मौजूद हैं।

डंप डाटा निकलवाया 

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने मोबाइल सर्विस प्रोवाइड करवाने वाली कंपनियों से मार्च माह का डंप डाटा निकलवाया है। पुलिस टीम ने मोबाइल मैपिंग की मदद से अभी तक तीन हजार से ज्यादा लोगों की पहचान की है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:coronavirus all place will be sealed where markaz jamaat people went