DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  नई दिल्ली  ›  सीबीएसई बोर्ड परीक्षा अधिसूचना - (A)
नई दिल्ली

सीबीएसई बोर्ड परीक्षा अधिसूचना - (A)

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 09:50 PM
सीबीएसई बोर्ड परीक्षा अधिसूचना - (A)

नोट : इंट्रो में बदलाव है

-------------------------

अपडेट :: ब्यूरो::: सीबीएसई के नतीजे 31 जुलाई तक

- 12वीं में अंकों के मूल्यांकन के लिए 30: 30: 40 के फॉर्मूले को मंजूरी

- मूल्यांकन के फॉर्मूले से असंतुष्ट छात्रों को परीक्षा का मौका भी दिया जाएगा

नई दिल्ली, विशेष संवाददाता

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने गुरुवार को घोषणा की कि कक्षा 10वीं और 12वीं के परिणाम क्रमशः 20 जुलाई और 31 जुलाई तक घोषित किए जाएंगे। इससे पहले दिन में केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि सीबीएसई 12वीं कक्षा के छात्रों के अंकों के मूल्यांकन के लिए 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षा के नतीजों के आधार पर क्रमश: 30: 30: 40 का फॉर्मूला अपनाएगी। सुप्रीम कोर्ट की मंजूरी मिलने के बाद बोर्ड ने अपनी इस नीति को गुरुवार देर शाम अधिसूचित कर दिया।

जस्टिस एएम खानविलकर और दिनेश माहेश्वरी की पीठ को अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने बताया कि मूल्यांकन के फॉर्मूले से असंतुष्ट सीबीएसई छात्रों को 12वीं कक्षा की परीक्षा देने का मौका दिया जाएगा, जो महामारी के हालात में सुधार होने पर कराई जाएगी। पीठ ने कहा कि नतीजों की घोषणा और 12वीं कक्षा की प्रस्तावित परीक्षा कराने के लिए समय सीमा भी स्पष्ट की जाए। न्यायालय ने कहा कि उसने कुछ याचिकाकर्ताओं की दलीलों को भी खारिज कर दिया है कि बोर्ड परीक्षाएं रद्द कराने का फैसला वापस लिया जाना चाहिए। कोर्ट कोरोना वायरस महामारी की स्थिति के बीच सीबीएसई और काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) की 12वीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द कराने का निर्देश देने का अनुरोध करने वाली याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा था।

दूसरी ओर सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा, हमारा प्रयास है कि कक्षा 10वीं सीबीएसई के परिणाम 20 जुलाई तक घोषित किए जाएंगे। कक्षा 12वीं के परिणाम 31 जुलाई तक घोषित किए जाएंगे, ताकि जो छात्र विदेश में अध्ययन के लिए जाना चाहते हैं उन्हें दिक्कत न हो।

आईसीएसई : सातवीं से लेकर 12वीं तक की शैक्षणिक योग्यता का मूल्यांकन

सुनवाई के दौरान आईसीएसई ने कहा की उसने छात्रों का मूल्यांकन करने के लिए छह वर्ष चुने हैं। यानी कक्षा सात से लेकर 12वीं तक की उसकी शैक्षणिक योग्यता का मूल्यांकन किया जाएगा जिसमें उसके सर्वोत्तम स्कोर को गिना जाएगा। उन्होंने कहा की रिजल्ट 30 जुलाई को या उससे पहले ही जारी कर दिया जाएगा।

-

छात्रों की परेशानी के हल को समिति बनाई जाएगी

शीर्ष न्यायालय ने वेणुगोपाल से सीबीएसई की योजना में विवाद के हल की व्यवस्था की रूपरेखा पेश करने को कहा ताकि छात्रों की शिकायतों पर सुनवाई की जा सके। वेणुगोपाल ने पीठ को आश्वस्त किया कि छात्रों की किसी भी चिंता के निदान के लिए एक समिति गठित की जाएगी।

-

परीक्षा का विकल्प नहीं :

सुनवाई के दौरान कुछ छात्रों के वकील ने कोर्ट को बताया की वे परीक्षा देने का विकल्प खुला रखना चाहते हैं, लेकिन कोर्ट ने कहा परीक्षा को रद्द कर दिया गया है, अब इस पर कोई बात नहीं होगी।

-

चार राज्यों की परीक्षाओं पर सुनवाई सोमवार को :

सुप्रीम कोर्ट को बताया गया की 28 राज्यों में से 18 राज्यों ने परीक्षाएं रद्द कर दी हैं। छह राज्य परीक्षा करवा चुके हैं और चार राज्यों असम, केरल, त्रिपुरा पंजाब और आंध्रप्रदेश ने अब तक कोई फैसला नहीं किया है। कोर्ट ने कहा की इस पर सोमवार को सुनवाई होगी।

क्या है सीबीएसई का फॉर्मूला

12वीं के यूनिट टेस्ट/मिड टर्म तथा प्री बोर्ड परीक्षाओं से 40% अंकों का निर्धारण किया जाएगा

11वीं की फाइनल परीक्षा के सैद्धांतिक परीक्षा से 30 फीसदी अंकों का निर्धारण होगा

10वीं में पांच में से तीन सर्वाधिक अंकों वाले विषयों की परीक्षा से 30% अंकों का निर्धारण

संबंधित खबरें