Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR नई दिल्लीब्यूरो:::शिखर वार्ता में एस-400 मिसाइल सिस्टम की आपूर्ति का ऐलान संभव

ब्यूरो:::शिखर वार्ता में एस-400 मिसाइल सिस्टम की आपूर्ति का ऐलान संभव

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीNewswrap
Mon, 29 Nov 2021 05:20 PM
ब्यूरो:::शिखर वार्ता में एस-400 मिसाइल सिस्टम की आपूर्ति का ऐलान संभव

-भारत और रूस के बीच 2018 में 35 हजार करोड़ रुपये का करार हुआ था

-भारत लगातार एस-400 मिसाइल सिस्टम की जल्द आपूर्ति की मांग करता रहा है

नई दिल्ली। विशेष संवाददाता

भारत-रूस के बीच आगामी छह दिसंबर को होने वाले वार्षिक शिखर सम्मेलन के दौरान एस-400 मिसाइल सिस्टम की आपूर्ति की प्रक्रिया को भी अंतिम रूप दिए जाने की संभावना है। हालांकि रूस के मीडिया के हवाले से आई खबरों में कहा गया है कि इस सिस्टम की आपूर्ति इस साल के आखिर में भारत को शुरू कर दी जाएगी। लेकिन इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। इस सम्मेलन के बाद इस बाबत आधिकारिक घोषणा होने की संभावना है।

भारत-रूस के बीच 2018 में एस-400 मिसाइल सिस्टम की खरीद के लिए 35 हजार करोड़ रुपये का करार हुआ था। भारत लगातार इसकी जल्द आपूर्ति की मांग करता रहा है। इसकी वजह चीन और पाकिस्तान की तरफ से मिलने वाली दोहरी चुनौती है। दूसरे, चीन भी इस सिस्टम को रूस से पहले ही खरीद चुका है। इसलिए जैसे ही यह सिस्टम भारत को उपलब्ध होगा उसे चीन और पाकिस्तान की सीमाओं के निकट तैनात किए जाने की संभावना है। इससे भारत किसी भी हवाई हमले से प्रभावी तरीके से निपटने में सक्षम हो जाएगा। समझौते के तहत कुल मिसाइल सिस्टम के कुछ पांच स्क्वाड्रन हासिल होने हैं। पहली स्क्वाड्रन यदि दिसंबर के अंत में मिलती है तो बाकी चार स्वाड्रनों की आपूर्ति की भी समयसीमा तय होगी।

प्लस टू वार्ता में इस मुद्दे पर चर्चा होगी

सरकारी सूत्रों ने बताया कि शिखर वार्ता के दौरान होने वाली प्लस टू वार्ता में इस मुद्दे पर चर्चा होगी। संभावना है कि सिस्टम की आपूर्ति को लेकर रूस द्वारा भारत को आधिकारिक जानकारी दी जाएगी।

-एस-400 मिसाइल सिस्टम दुनिया का अत्याधुनिक एंटी मिसाइल सिस्टम है।

-यह 400 किमी के दायरे और 30 किमी की ऊंचाई में दुश्मन के किसी भी हवाई हमले को नाकाम कर सकता है।

-एस-400 मिसाइल सिस्टम में विमान, ड्रोन और मिसाइल हमले शामिल हैं।

-यह एक साथ 100 हमलों पर नजर रख सकता है तथा छह हमलों को एक साथ निष्क्रिय कर सकता है।

-इसका पूरा नाम एस-400 ट्रायम्फ है जिसे नाटो देशों में एसए-21 ग्रोलर के नाम से जाना जाता है।

epaper

संबंधित खबरें