DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीयू कुलपति के दफ्तर पर नेत्रहीन छात्रों का प्रदर्शन

डीयू में शुक्रवार को सैंकड़ों की संख्या में दृष्टिबाधित छात्रों ने कुलपति दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया। उनका कहना था कि लंबे समय से उनकी उपेक्षा की जा रही है। उनकी मांग है कि परिसर में जगह-जगह रैंप होने चाहिए। वहीं कुछ स्थानों पर सुरक्षाकर्मी भी तैनात हों, जो उन्हें रास्ता दिखाने में मदद करे। छात्रों का आरोप है कि निरंतर बढ़ती परेशानियों के बावजूद डीयू की इक्वल ऑपर्च्यूनिटी सेल के ओएसडी और अन्य अधिकारी उनकी बात नहीं सुन रहे हैं।

इस दौरान प्रदर्शनकारी छात्राओं ने आरोप लगाया कि उनके शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने के बाद भी पुलिसकर्मियों ने उनके साथ हाथापाई की। कई छात्रों को पीटने की भी कोशिश की। प्रदर्शन कर रहे अधिकतर छात्र 50 से 80 फीसदी तक देख पाने में असमर्थ हैं। गुस्साए छात्रों ने देर शाम पटेल चेस्ट की लाल बत्ती पर भी प्रदर्शन शुरू कर दिया। इससे पूरे इलाके में जाम की समस्या पैदा हो गई।

प्रदर्शन कर रही लॉ सेंटर-2 की छात्रा रक्षा ने कहा कि कई बार वीसी से मुलाकात करने की अपील कर चुके हैं बावजूद मिलने का समय नहीं दे रहे हैं। यही कारण है कि हमें प्रदर्शन करना पड़ा। उन्होंने बताया कि जब वे कुलपति के सामने प्रदर्शन कर रहे थे तो पुलिस वाले जबरन उन्हें वहां से भगाने लगे। वहीं पॉलिटिकल साइंस से पीएचडी कर रहे छात्र दुर्गेश ने कहा कि दृष्टिबाधित छात्रों को भी बराबरी का अधिकार दिया जाना चाहिए। आखिर हमें अपनी बात कहने से क्यों रोका जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:blind student's protest at du vc office