ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR नई दिल्लीकोरोना को मात देने वाले चारधाम यात्रा को लेकर सावधानी बरतें

कोरोना को मात देने वाले चारधाम यात्रा को लेकर सावधानी बरतें

अस्पताल से स्वस्थ होकर लौटे कोरोना मरीजों को चारधाम और अमरनाथ यात्रा पर जाने को लेकर सावधानी बरतनी चाहिए। केदारनाथ यात्रा के दौरान लगातार मौत के...

कोरोना को मात देने वाले चारधाम यात्रा को लेकर सावधानी बरतें
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीSat, 14 May 2022 06:10 PM

अस्पताल से स्वस्थ होकर लौटे कोरोना मरीजों को चारधाम और अमरनाथ यात्रा पर जाने को लेकर सावधानी बरतनी चाहिए। केदारनाथ यात्रा के दौरान लगातार मौत के मामले सामने आ रहे हैं, जिसका मुख्य कारण ऊंचाई वाली जगह पर ऑक्सीजन की कमी, उच्च रक्तचाप और हृदयघात बताया जा रहा है। मालूम हो कि अगले महीने से अमरनाथ यात्रा भी शुरू होने वाली है।

ऊंचाई वाले स्थानों पर ऑक्सीजन की कमी तीर्थ यात्रियों के लिए मुसीबत बन सकती है। इसे लेकर स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है। विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना संक्रमण के प्रभाव से फेफड़े पहले ही कमजोर हो चुके हैं। ऐसे में यात्रा पर जाने से पहले सभी जरूरी जांच करानी चाहिए।

लोकनायक अस्पताल की उप चिकित्सा अधीक्षक डॉ. रितु सक्सेना ने बताया कि जो लोग अस्पताल में कोरोना संक्रमण के उपचार के लिए ऑक्सीजन पर निर्भर रहे हैं, उन्हें यात्रा पर जाने को लेकर विशेष एहतियात बरतने की जरूरत है। ऊंचाई वाले स्थानों पर जाने से बचने की कोशिश करें, क्योंकि संक्रमण से फेफड़े पहले ही कमजोर हो चुके हैं। पहाड़ी इलाकों में ऊंचाई वाली जगहों पर ऑक्सीजन की कमी होती है। इसलिए ऐसे स्थानों की यात्रा मुश्किलें खड़ी कर सकती हैं। कोरोना से स्वस्थ होने वाले दिल की बीमारी, अस्थमा, लंग फाइब्रोसिस के मरीज यात्रा बिल्कुल न करें।

संबंधित खबरें

स्वामी दयानंद अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी और छाती रोग विशेषज्ञ डॉ. ग्लैडबिन त्यागी ने कहा कि ऐसे स्थानों पर जाने से पहले यात्रियों को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है। खासतौर पर जो कोरोना से ठीक हुए है।

अमरनाथ यात्रा पर जाने वाले यात्रियों का पीएफटी, छाती एक्सरे, वॉक टेस्ट और ईसीजी के बाद चिकित्सीय प्रमाण पत्र जारी किया जा रहा है, जिसके आधार पर यात्रा की अनुमति मिलती है। केदारनाथ यात्रा को लेकर ऐसी व्यवस्था नहीं है।

epaper