ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR नई दिल्लीआंध्र प्रदेश : चंद्रबाबू नायडू आज चौथी बार लेंगे मुख्यमंत्री पद का शपथ

आंध्र प्रदेश : चंद्रबाबू नायडू आज चौथी बार लेंगे मुख्यमंत्री पद का शपथ

टीडीपी प्रमुख एन. चंद्रबाबू नायडू बुधवार को चौथी बार आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कई...

आंध्र प्रदेश : चंद्रबाबू नायडू आज चौथी बार लेंगे मुख्यमंत्री पद का शपथ
हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीTue, 11 Jun 2024 06:15 PM
ऐप पर पढ़ें

- आंध्र प्रदेश विधानसभा में एनडीए के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार चुने गए
- समारोह में प्रधानमंत्री मोदी और कई अन्य गणमान्य के शामिल होने की उम्मीद

अमरावती, एजेंसी। टीडीपी प्रमुख एन. चंद्रबाबू नायडू बुधवार को चौथी बार आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कई अन्य गणमान्य व्यक्तियों के शामिल होने की उम्मीद है। मंगलवार शाम को राज्यपाल की ओर से सरकार बनाने का निमंत्रण मिला। इससे पहले मंगलवार को चंद्रबाबू नायडू को आंध्र प्रदेश विधानसभा में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का नेता चुन लिया गया।

नायडू का विजयवाड़ा के बाहरी इलाके में गन्नावरम हवाई अड्डे के पास केसरपल्ली आईटी पार्क में बुधवार पूर्वाह्न 11.27 बजे शपथ लेने का कार्यक्रम है। नायडू के साथ कुछ और नेताओं के शपथ लेने की संभावना है, जिनमें टीडीपी महासचिव और नायडू के बेटे नारा लोकेश तथा जनसेना के नेता एन. मनोहर शामिल हो सकते हैं। इससे पहले टीडीपी, भाजपा और जनसेना वाले एनडीए के नेता, राज्यपाल एस अब्दुल नजीर से मिले और सरकार बनाने का दावा पेश किया। समारोह की तैयारियों की समीक्षा करने वाले मुख्य सचिव नीरभ कुमार प्रसाद ने कहा कि प्रधानमंत्री के बुधवार सुबह 10.40 बजे गन्नावरम हवाई अड्डे पहुंचने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम के बाद प्रधानमंत्री के भुवनेश्वर के लिए उड़ान भरने की संभावना है।

सुबह विजयवाड़ा में टीडीपी, जनसेना और भाजपा विधायकों की बैठक में विधायकों ने सर्वसम्मति से नायडू को एनडीए का नेता चुना। जनसेना प्रमुख पवन कल्याण ने एनडीए के नेता के रूप में चंद्रबाबू नायडू के नाम का प्रस्ताव रखा, जिसका राज्य भाजपा प्रमुख डी. पुरंदेश्वरी ने भी समर्थन किया। नतीजतन नायडू मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में उभरे। इससे पहले सुबह नायडू को सर्वसम्मति से टीडीपी विधायक दल का नेता और जनसेना पार्टी के संस्थापक पवन कल्याण को विधानसभा में पार्टी का नेता चुना गया।

अमरावती आंध्र प्रदेश की एकमात्र राजधानी होगी

बैठक में चौथी बार मुख्यमंत्री बनने की घोषणा करते हुए नायडू ने कहा कि उन्होंने दक्षिणी राज्य के लिए केंद्र सरकार से सहयोग मांगा है और इसके लिए आश्वासन दिया गया है। उन्होंने संकल्प जताया कि अमरावती आंध्र प्रदेश की एकमात्र राजधानी होगी। उन्होंने कहा, हमारी सरकार में तीन राजधानियों की आड़ में कोई खेल नहीं होगा। हमारी राजधानी अमरावती है। अमरावती राजधानी है। साथ ही नायडू ने कहा कि पोलावरम परियोजना को पूरा किया जाएगा। इसके अलावा, उन्होंने कहा कि बंदरगाह शहर विशाखापत्तनम को आर्थिक राजधानी और एक उन्नत विशेष शहर के रूप में विकसित किया जाएगा। टीडीपी प्रमुख ने हाल के चुनावों में एनडीए की भारी जीत को अभूतपूर्व बताया। टीडीपी, भाजपा और जनसेना वाले एनडीए ने आंध्र प्रदेश में हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनावों में 164 सीट और लोकसभा चुनाव में 21 सीट हासिल की है।

मालूम हो कि वर्ष 2014-2019 के दौरान विभाजित आंध्र प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री के रूप में उन्होंने अमरावती को राजधानी बनाने का विचार सामने रखा था। लेकिन नायडू के इस विचार को 2019 में तब झटका लगा जब टीडीपी सत्ता से बाहर हो गई और वाईएस जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली वाईएसआरसीपी ने शानदार जीत हासिल की। रेड्डी ने अमरावती को राजधानी बनाने की योजना पर पानी फेर दिया। उन्होंने तीन राजधानियों का नया सिद्धांत पेश किया लेकिन अब नायडू ने इस सिद्धांत के स्थान पर एकल राजधानी के फैसले को तरजीह दी है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।