class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फॉलो मी व्हीकल करेंगे विमानों के परिचालन में मदद

सर्दियों के मौसम में घने कोहरे को ध्यान में रखते हुए दिल्ली हवाईअड्डे का परिचालन करने वाली संस्था डायल ने तैयारी कर ली है। इस वर्ष विमानों के परिचालन में सुरक्षा पर विशेष तौर पर ध्यान दिया गया है। घने कोहरे के दौरान विमानों के परिचालन से किसी भी प्रकार का हादसा न हो इसके लिए दिल्ली हवाईअड्डे पर पहली बार फॉलो मी व्हिकल तैनात किए गए हैं। इन गाड़ियों पर जीसीएस सिस्टम लगे हैं। इनकी नजर रेनवे या उसके आसपास विमानों के परिचालन पर रहेगी।

शून्य या 50 मीटर से कम की दृश्यता की स्थित में विमानों को रनवे तक ले जाने व वहां से आने में इन वाहनों की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। ये सभी गाड़ियां एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) के संपर्क में रहेंगी। गुरुवार को दिल्ली हवाईअड्डे पर आयोजित एक वार्ता में डायल की ओर से बताया गया कि इस वर्ष यात्रियों को उनकी उड़ानों के संबंधित सूचनाएं समय पर मिल सकें इसके लिए कई कदम उठाए गए हैं। हवाईअड्डे पर विभिन्न एजेंसियां व लोग एक दूसरे से फोन , मेल व अन्य सूचना के माध्यमों से जुड़े रहेंगे ताकि यात्रियों को सही सूचना तुरंत उपलब्ध करायी जा सके। इसके अलावा कोहरो पर नजर रखने के लिए एक सीएमडी सेल बनायी गई है। ये एयर ट्रैफिक कंट्रोल, एयरलाइन व एयरपोर्ट आप्रेशन कंट्रोल सेंटर के बीच समनवय का काम करेगी। हवाईअड्डे के अदंर कई जगाहें पर मौसम से संबंधित सूचनाएं भी प्रदर्शित की जाएंगी। कोहरे से संबंधित पूर्व सूचनां मौसम विभाग की ओर से हवाईअड्डे के परिचालन में काम कर रहे सभी भागीदारों को मेल के जरिए भेजी जाएंगी।

इस मौके पर डायल के सीईओ आई. प्रभाकर राव ने बताया कि हम इस साल फ्लाईट ऑपरेशन के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। दिल्ली एयरपोर्ट पर इस साल कम विजिब्लिटी में सुचारू रूप से विमान सेवा बनी रहे इसके लिए सीएटी-111 बी जीपीएस सिस्टम की शुरुआत की है। इस सिस्टम से लैस करीब 10 वाहनों को सभी रनवे पर तैनात किया गया है। इसकी व्यवस्था के तहत रनवे पर 50 मीटर तक की विजिब्लिटी में भी फ्लाइट की लैंडिंग आसानी से करवाई जा सकेगी।

उन्होंने बताया कि यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए हवाईअड्उे पर कई जगहों पर अतिरिक्त हेल्प डेस्क, आईजीआई सोशल मीडिया और हेल्पलाईन नंबर की व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही यात्रियों की मदद से लिए विशेष तौर पर कर्मचारी भी नियुक्त किए गए हैं, जो उन्हें जरूरी जानकारी देने के साथ ही ऐसे में समय में सही रूप से गाईड भी करेंगे। हवाईअड्डे के बाहर सड़क पर टैक्सियों के बेहतर परिचलान के लिए रेट्रो रिफलेक्टिव नेंट, कार पार्किंग में पर्याप्त लाइटिंग और कोहरे के दौरान अतिरिक्त ट्रैफिक मार्शल्स की नियुक्ति कर दी गई है।

नई उड़ानें टी 2 से चलेंगी

दिल्ली हवाईअड्डे पर इस वर्ष कुछ उड़ानों के टर्मिनल दो पर स्थानांतरित किए जाने से टर्मिनल एक पर यात्रियों का बोझ कर रहेगा। ऐसे में यात्रियों को राहत मिलेगी। वहीं आने वाले दिनों में दिल्ली हवाईअड्डे से शुरू होने वाली नई उड़ानों को टर्मिनल दो से ही उड़ाया जाएगा।

17 दिसम्बर तक नहीं सताएगा कोहरा

दिल्ली हवाईअड्डे पर मौसम विभाग के निदेशक आरके जेनामणि ने कहा, ''इस साल 17 दिसंबर से पहले कोहरा होने की संभावना कम ही है। उन्होंने संभावना जतायी कि 09 से 11 दिसम्बर के बीच उत्तर भारत के कुछ इलाकों में कोहरा रह सकता है। इस वर्ष अब तक 06 से 12 नवम्बर के बीच घना कोहरा दर्ज किया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:air pollution
कैब शेयरिंग के साथ महिला सुरक्षा भी मुद्दा-केजरीवालबिजली चोरी रोकने के लिए पुलिस को समुचित कदम उठाने की जरूरत-हाईकोर्ट