DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देशबंधू कॉलेज के प्राचार्य की नियुक्ति में गड़बड़ी के आरोप

नई दिल्ली। वरिष्ठ संवाददाता

दिल्ली विश्वविद्यालय के देशबंधु कॉलेज में प्राचार्य की नियुक्ति में गड़बड़ी की बात सामने आई है। आरोप है कि कॉलेज की प्रबंधन समिति (जीबी) के अध्यक्ष ने स्क्रीनिंग में चयनित किए उम्मीदवारों के नामों से कुछ नाम हटाकर अपने पसंदीदा नाम डाले हैं। जिन नामों को लिस्ट में बाद में जोड़ा गया, उनमें वर्तमान कार्यकारी प्राचार्य का नाम भी शामिल है।

डीयू की सर्वोच्च निर्णय समिति कार्यकारी परिषद् (ईसी) के सदस्य डॉ. योगेन्द्र सिंह माथुर ने देशबंधु कॉलेज के जीबी अध्यक्ष को अविलम्ब हटाने की मांग की है। उन्होंने बताया कि कॉलेज के प्राचार्य पद के लिए जो इस वर्ष तीन मार्च को विज्ञापन निकाला गया था। इसमें 30 उम्मीदवारों ने आवेदन किया था। इसके बाद विश्वविद्यालय द्वारा गठित ‘स्क्रूटनी कमेटी ने 30 आवेदनों में से 18 को योग्य पाते हुए कॉलेज के जीबी अध्यक्ष को भेज दिया था लेकिन जीबी अध्यक्ष ने डीयू की ‘स्क्रूटनी कमेटी के निर्णयों को दरकिनार करते हुए 18 में से तीन नामों को हटा दिया और अवैध रूप से दो अन्य नाम जोड़ दिए। डीयू अकादमिक परिषद (एसी) के सदस्य प्रो. हंसराज सुमन का कहना है कि देशबंधु कॉलेज के सभी 17 उम्मीदवारों के नाम कॉलेज की वेबसाइट पर ना दर्शाया जाना घपलेबाजी की ओर इशारा कर रहा है। जबकि नियुक्ति प्रक्रिया में रामजस, रामलाल आनंद, किरोड़ीमल व जानकीदेवी में एपीआई स्कोर के साथ लिस्ट लगाई गई है। लेकिन देशबंधु कॉलेज ने दो बार निकाली गई सूची में ऐसा नहीं किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:accusiotion of scam in du deshbandhu college principal's recruitment