DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीसीटीवी कैमरों को लेकर झूठ बोल रहे हैं एलजी-दिल्ली पुलिस: आप

प्रमुख संवाददाता . आम आदमी पार्टी ने दो लाख सीसीटीवी कैमरे लगाने को लेकर एलजी और दिल्ली पुलिस पर झूठ बोलने का आरोप लगाया है। उधर, दिल्ली हाईकोर्ट ने भी ये कैमरे न लगाने को लेकर दिल्ली पुलिस को फटकार लगाई है। आप नेता आतिशी ने कहा कि एक तरफ तो दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल कहते हैं कि दिल्ली में 2 लाख कैमरे लग चुके हैं और वहीं दूसरी ओर दिल्ली पुलिस हाईकोर्ट में स्वीकार करती है कि हमने अभी तक दिल्ली में कोई कैमरा नहीं लगवाया है। अब या तो अनिल बैजल साहब झूठ बोल रहे है, या फिर हाईकोर्ट में दिया गया दिल्ली पुलिस का बयान झूठा है।

वीरवार को पार्टी दफ्तर में आयोजित एक प्रेसवार्ता में आप नेता ने कहा, हम लंबे समय से दिल्ली में सीसीटीवी कैमरे लगाने की लड़ाई लड़ रहे हैं। दिल्ली सरकार के अधिकारी इस जनहित के कार्य में बाधाएं पैदा करते आ रहे हैं। अब उपराज्यपाल ने भी एक कमेटी का गठन कर महिला सुरक्षा के इस काम में एक और रोड़ा अटकाने का काम किया है। हाईकोर्ट का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि कोर्ट में लंबित एक केस की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने भी दिल्ली में सीसीटीवी कैमरे न लगे होने की बात उठाई।

एक दिन पहले शांति वन के पीछे के इलाके में यमुना में एक महिला की लाश मिली थी। हाईकोर्ट ने उस केस का संज्ञान लेते हुए दिल्ली पुलिस को फटकार लगाई है। आज दिल्ली में अपराध चरम पर हैं, अगर दिल्ली पुलिस ने अपनी जिम्मेदारियों को समझते हुए दिल्ली में कैमरे लगाने की अपनी जिम्मेदारी को पूरा किया होता तो कानून व्यवस्था और सुरक्षा का इतना बुरा हाल न होता। केस की सुनवाई के दौरान कोर्ट द्वारा सीसीटीवी कैमरे लगवाने को लेकर पूछे गए सवाल पर दिल्ली पुलिस ने बेहद ही शर्मनाक जवाब दिया। दिल्ली पुलिस ने कहा कि हम कार्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी के तहत कैमरा लगवा सकते हैं।

आप नेता ने सवाल किया कि कैमरा लगवाना क्या प्राइवेट कम्पनी का काम है। क्या दिल्ली पुलिस की कोई जिम्मेदारी नहीं है, क्या उपराज्यपाल की कोई जिम्मेदारी नहीं है। उन्होंने मीडिया के माध्यम से उपराज्यपाल अनिल बैजल और दिल्ली पुलिस के समक्ष कुछ सवाल रखे हैं।

-ये दो लाख कैमरे, जिसका उपराज्यपाल जिक्र कर रहे हैं, वे लगे भी हैं या नहीं

-इन सभी दो लाख कैमरों की जानकारी सार्वजानिक की जाए, आखिर ये दिल्ली के किन-किन इलाको में लगे हैं। किस कैमरे की निगरानी कौन से पुलिस थाना द्वारा की जा रही है।

-ये कैमरे क्या उन्होंने कार्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी स्कीम के तहत लगवाए हैं, क्या इन्हें प्राइवेट कम्पनी ने लगाया है

-क्या ये दो लाख तथाकथित कैमरे उसी कमेटी के मानकों के आधार पर लगे हैं, जिनका हवाला देकर उपराज्यपाल ने दिल्ली सरकार द्वारा लगवाए जा रहे सीसीटीवी कैमरे का काम रुकवा दिया है

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Aap alligation on LG to obstruct cctv project