DA Image
22 नवंबर, 2020|9:26|IST

अगली स्टोरी

दिल्ली सरकार के 3 साल का रिपोर्टकार्ड

नई दिल्ली। मुख्य संवाददाता

तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा होने पर बुधवार को दिल्ली सरकार ने अपना रिपोर्ट कार्ड पेश किया। इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दावा किया कि शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में बड़े काम हुए हैं। सरकार लोगों को राहत देने का काम कर रही है। एक वर्ष के अंदर मोहल्ला क्लीनिक, पॉलीक्लीनिक, डोर स्टेप डिलीवरी, सीसीटीवी और फ्री वाईफाई के दावों को पूरा कर लिया जाएगा।

बुधवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उनकी पूरी कैबिनेट और आला अफसरों ने सरकार के तीन वर्ष पूरा होने पर अपनी उपलब्धि गिनाई। सीएम केजरीवाल ने कहा कि स्वास्थ्य और शिक्षा में पूरे देश में इतना निवेश नहीं हुआ, जितना दिल्ली में हुआ है। 70 वर्ष में दिल्ली के अस्पतालों की क्षमता दस हजार बिस्तर की हुई थी। अस्पतालों में मार्च तक तीन हजार बिस्तर बढ़ जाएंगे। अगले वित्त वर्ष में ढाई हजार बिस्तर क्षमता बढ़ेगी। सीएम ने कहा कि पहले दिल्ली के अस्पतालों में ओपीडी तीन करोड़ प्रतिवर्ष थी। अब यह बढ़कर चार करोड़ हो गई है। दिल्ली सरकार ने 133 रेडियोलॉजी टेस्ट मुफ्त कर दिए हैं। सरकारी अस्पताल में सर्जरी की तारीख नहीं मिलने पर 44 अस्पतालों में सर्जरी का पैसा सरकार दे रही है।

अगले वर्ष का खाका भी खींचा

मुख्यमंत्री ने उपलब्धियों के साथ-साथ अगले वर्ष के रोडमैप का भी खाका खींचा। उन्होंने बताया कि इस वर्ष दो हजार नई बसें आनी हैं। पांच सौ ई-बसों की भी दिल्ली सरकार तैयारी कर रही है। प्रदूषण से बचने के लिए पांच सौ किलोमीटर सड़क पर ग्रीन कारपेट होगा। पूरे वर्ष में प्रदूषण के हाल पर राउंड द क्लॉक स्टडी कराई जाएगी। अभी तक सरकार के पास अलग-अलग समय में प्रदूषण के कारणों की जानकारी वाली रिपोर्ट नहीं है।

सीएम ने बताया कि सीसीटीवी के लिए टेंडर हो चुके हैं। एक माह में काम शुरू हो जाएगा। अगले वर्ष सभी कच्ची कॉलोनी में सड़क, नाली और पानी की समस्या खत्म हो जाएगी। जो एजेंसी सड़क काटकर काम करेगी, वहीं उसे ठीक करेगी। उन्होंने बार-बार कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य और पर्यावरण के क्षेत्र में इस बार बजट में अच्छा आवंटन किया जाएगा।

बिना टैक्स बढ़ाए राजस्व बढ़ा सकते हैं : सिसोदिया

कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि बीते तीन वर्ष में टैक्स घटाकर राजस्व 31 हजार करोड़ से बढ़कर करीब 48 हजार करोड़ हो गया है। इस दौरान देश की जीडीपी में गिरावट आई। इससे साफ है कि ईमानदारी से काम हो तो बगैर टैक्स बढ़ाए भी राजस्व बढ़ा सकते हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के शिक्षा के प्रयासों को हावर्ड में भी सराहा गया है। अब केंद्र सरकार भी इन पर नजर रख रही है।

मुश्किलें भी गिनाईं

अपनी उपलब्धियां गिनाने के बाद मुख्यमंत्री ने मुस्कुराकर कहा कि इस सफर में मुश्किलें भी कम नहीं रही। मोहल्ला क्लीनिक की फाइल पास नहीं की गई। हमारी सरकार से संबंधित 440 फाइलों को मंगाकर जांच कराई गई। सीबीआई की रेड सीएम और डिप्टी सीएम के यहां कराई गई। उन्होंने आरोप लगाया कि अब सत्येंद्र जैन को फर्जी मामले में फंसाया जा रहा है। इसके बाद भी दिल्ली सरकार काम कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आप हमारी पूरी सरकार और विधायकों को जेल में डाल दो, लेकिन दिल्ली में काम मत रोको। इससे जनता प्रभावित होती है। सीएम ने बताया कि 17 बिल केंद्र सरकार के यहां लंबित हैं। इसमे लोकपाल, निजी स्कूलों के ऑडिट, समयबद्ध सेवा और न्यूनतम वेज से संबंधित बिल हैं।

शीला दीक्षित के कार्यकाल से तुलना की

सीएम अरविंद केजरीवाल ने अपनी तीन वर्ष की सरकार की तुलना कई कामों में 15 वर्ष तक मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित के कामकाज से की। उन्होंने कहा कि तीन वर्ष के अंदर बीस नए स्कूल बने हैं। 28 पर काम चल रहा है। शीला सरकार में 15 वर्ष में तीस स्कूल बने थे। उन्होंने कहा कि दिल्ली में शीला दीक्षित को फ्लाईओवर की सरकार के लिए याद किया जाता है। 15 वर्ष में शीला दीक्षित ने 57 फ्लाईओवर बनाए थे। सीएम ने कहा कि आप सरकार ने तीन वर्ष में 11 फ्लाईओवर बनाए हैं। ‘आप सरकार ने तीन वर्ष में 46 कॉलोनी में सीवर लाइन डाल दी है। 337 में काम हो रहा है, जबकि कांग्रेस ने 15 वर्ष में मात्र 220 कॉलोनी में सीवर लाइन डाली थी। सीएम ने कहा कि हमने कम समय में बेहतर काम किया है।

16 सवालों के लाइव जवाब दिए

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री, मंत्री और अफसरों ने जनता के 16 सवालों का जवाब दिया। दिल्ली के लोगों ने आठ सवाल फोन के जरिए, तीन ट्विटर से और पांच सवाल फेसबुक के माध्यमम से सरकार से पूछे। महिला सुरक्षा को लेकर तीन सवाल किए गए। लोगों के सवालों के जवाब संबंधित अफसरों से भी दिलवाए गए।

इस दौरान शुभम टुटेजा ने पार्किंग, शाकिब ने मोहल्ला क्लीनिक, प्रशांत ने चुनावों के संदर्भ में काम, कृतिका ने नफरत के माहौल पर सवाल पूछे। राकेश शिल्पी निगम ने कांट्रेक्ट स्टाफ को निकालने की समस्या, रोहणी से कमला ने डीटीसी बसों में वरिष्ठ नागरिकों को मुफ्त सेवा नहीं मिलने की समस्या उठाई। इस पर परिवहन मंत्री ने कहा कि यह योजना जल्द ही लागू हो जाएगी। जसमीत सबरवाल ने खराब स्ट्रीट लाइट, नारायण ठाकुर ने खिलाड़ियों को सुविधा नहीं मिलने, मधुर अग्रवाल ने बगैर एसीबी भ्रष्टाचार पर लगाम, दिव्या जैन ने सीसीटीवी से सुरक्षा, डीयू से परवीना ने महिला सुरक्षा, अगीर गुप्ता ने आवासीय क्षेत्र से झुग्गी हटाने, आकांक्षा ने पालिथीन बंद करने, विजय रत्ना ने इंजीनियरिंग कॉलेजों की खराब हालत और राहुल ने कच्ची कॉलोनी का मुद्दा उठाया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:3 year report card of Delhi government