DA Image
24 फरवरी, 2020|9:48|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चेक से छेड़छाड़ कर ठगी का प्रयास करने वाले 10 गिरफ्तार

default image

राजधानी के करोलबाग इलाके में चेक से छेड़छाड़ कर 12 करोड़ की ठगी का प्रयास करने के मामले में पुलिस ने एक महिला सहित दस लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस की मानें तो आरोपितों द्वारा चेक को एक एनजीओ के खाते में डलवाने के बाद आपस में रुपये बांटने की योजना थी। बैंक मैनेजर ने गड़बड़ी पकड़ पुलिस को जानकारी दे दी। पुलिस ने जांच के बाद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

गिरफ्तार आरोपियों में बदरपुर निवासी अभिषेक कुमार, सराय रोहिल्ला स्थित स्वामी दयानंद कॉलोनी निवासी अशोक पंवार, मादीपुर निवासी कमल केसर, अमित मार्कल और कुल भूषण उर्फ सोनू, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की खोड़ा कॉलोनी निवासी लोकेंद्र राव, उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर के हयात नगर निवासी अब्दुल कादिर, मथुरा के पूनम विहार निवासी ज्योतिका भोंसले, पूर्वी मुंबई के कांदीवली निवासी श्रवण यादव उर्फ संतोष यादव और लखनऊ के गोमती नगर के विशाल खंड का रहने वाला प्रेम नारायण पांडेय शामिल हैं। पुलिस के मुताबिक करोल बाग स्थित पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के मुख्य प्रबंधक रुपेश रौशन ने शिकायत दी थी कि कुछ लोग चेक से छेड़छाड़ करके 12 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने का प्रयास कर रहे हैं। सूचना के आधार पर मामला दर्ज कर जांच आरंभ की गई और इस दौरान अभिषेक कुमार और अशोक पंवार को तत्काल गिरफ्तार कर लिया गया।

पूछताछ के दौरान पता चला है कि पीएनबी का एक चेक कई लोगों के पास से होकर गुजरा। जिन लोगों के पास से चेक गया, उनमें से प्रत्येक को एक-एक करोड़ रुपये मिलने थे। आरोपितों ने इस चेक से छेड़छाड़ कर इसकी राशि 12 करोड़ की और इसे एनजीओ डब्ल्यूजे केयर सेंटर ट्रस्ट के खाते में जमा करने का प्रयास किया, क्योंकि पीएनबी बैंक नेपाल के एवरेस्ट बैंक लिमिटेड के खातों की भी देखरेख करता है। ऐसे में आरोपी 12 करोड़ रुपये के चेक को पीएनबी से भुगतान कराकर बैंक के साथ ठगी करना चाहते थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:10 arrested for attempting to defraud a check