ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR नई दिल्लीआस्था : बुराड़ी में श्रद्धालु केदारनाथ धाम के दर्शन कर सकेंगे

आस्था : बुराड़ी में श्रद्धालु केदारनाथ धाम के दर्शन कर सकेंगे

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने हिरंकी में केदारनाथ मंदिर का भूमि पूजन...

आस्था : बुराड़ी में श्रद्धालु केदारनाथ धाम के दर्शन कर सकेंगे
हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीWed, 10 Jul 2024 05:45 PM
ऐप पर पढ़ें

नई दिल्ली, कार्यालय संवाददाता। दिल्ली में भी श्रद्धालु बाबा केदार के दर्शन कर सकेंगे। बुधवार को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुराड़ी स्थित हिरंकी में केदारनाथ मंदिर का भूमि-भूजन कर शिलान्यास किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि मंदिर के निर्माण से सभी शिवभक्तों की मनोकामना पूर्ण होगी।
पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि बुराड़ी क्षेत्र का जिक्र हमारे पौराणिक ग्रंथों में मिलता है। यह क्षेत्र महाभारत काल से भी जुड़ा हुआ है। बुराड़ी की पावन धरती पर उत्तराखंड और सनातन संस्कृति के मूल परिचायक बाबा केदारनाथ का धाम आस्था का आधुनिक प्रतीक बनेगा। यह मंदिर श्रद्धा को जीवन, मानव को महादेव, समाज को अध्यात्म और वर्तमान पीढ़ी को प्राचीन संस्कृति से जोड़ने का कार्य करेगा।

मुख्यमंत्री पुष्कर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में संपूर्ण विश्व में सनातन संस्कृति की ध्वजा फैल रही है। उनके कुशल नेतृत्व में अयोध्या के मंदिर के निर्माण से लेकर केदारनाथ एवं बदरीनाथ के पुनर्निर्माण का कार्य जारी है। यह कालखंड भारत की सनातन संस्कृति के पुनरुत्थान का कालखंड है। आज विदेश से आने वाले मेहमानों का स्वागत श्रीमद्भागवत गीता भेंट करके होता है।

भूमि पूजन के मौके पर केंद्रीय सड़क एवं परिवहन राज्यमंत्री अजय टम्टा, महामंडलेश्वर कैलाशानंद गिरी महाराज, स्वामी राजेंद्रानंद, गोपाल मणि महाराज सहित कई लोग उपस्थित रहे।

हर साल बढ़ रही चारधाम आने वालों की संख्या

मुख्यमंत्री पुष्कर ने बताया कि इस बार योग दिवस का आयोजन आदि कैलाश में किया गया था, जिसका उद्देश्य केदारनाथ धाम, आदि कैलाश जैसे हमारे राज्य के पवित्र स्थलों को जन-जन तक पहुंचाना था। राज्य सरकार सनातन संस्कृति के उत्थान के लिए निरंतर कार्य कर रही है। चारधाम आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या हर साल बढ़ रही है। चार धामों के साथ अन्य धार्मिक स्थलों को भी तेजी से विकसित किया जा रहा है। मानसखंड यात्रा के अंतर्गत कुमाऊं क्षेत्र के पौराणिक मंदिरों का विकास कार्य जारी है। आगामी कावड़ मेले को लेकर भी प्रदेश सरकार की ओर से तैयारियां पूर्ण की जा रही हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।