ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR नई दिल्लीऑस्ट्रिया पैकेज: मुख्य खबर... यह युद्ध का समय नहीं : मोदी

ऑस्ट्रिया पैकेज: मुख्य खबर... यह युद्ध का समय नहीं : मोदी

- प्रधानमंत्री ने ऑस्ट्रिया के चांसलर के साथ चर्चा में कहा - दोनों देशों ने

ऑस्ट्रिया पैकेज: मुख्य खबर... यह युद्ध का समय नहीं : मोदी
हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीWed, 10 Jul 2024 05:30 PM
ऐप पर पढ़ें

- प्रधानमंत्री ने ऑस्ट्रिया के चांसलर के साथ चर्चा में कहा
- दोनों देशों ने संबंधों को रणनीतिक दिशा देने का फैसला किया

विएना, एजेंसी।

रूस के बाद ऑस्ट्रिया के दौरे पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को फिर कहा कि यह युद्ध का समय नहीं है। ऑस्ट्रिया के चांसलर कार्ल नेहमर के साथ चर्चा के बाद उन्होंने यह बात कही। इस दौरान दोनों नेताओं ने यूक्रेन संघर्ष और पश्चिम एशिया की स्थिति समेत विश्व में जारी विवादों पर विस्तृत चर्चा की।

वार्ता के बाद नेहमर के साथ मीडिया को संयुक्त रूप से संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, चांसलर नेहमर और मेरे बीच बहुत ही सार्थक चर्चा हुई। हमने आपसी सहयोग को और मजबूत करने के लिए नई संभावनाओं को तलाशा है। हमने अपने संबंधों को रणनीतिक दिशा देने का निर्णय लिया है। आने वाले दशक के लिए सहयोग का खाका तैयार किया गया है।

बातचीत के साथ कूटनीति पर जोर :

प्रधानमंत्री ने कहा, हमने दुनियाभर में जारी संघर्षों के बारे में विस्तृत वार्ता की है, चाहे वह यूक्रेन संघर्ष हो या पश्चिम एशिया में स्थिति। मोदी ने कहा कि समस्याओं का समाधान युद्ध के मैदान में नहीं निकाला जा सकता। भारत और ऑस्ट्रिया बातचीत के साथ कूटनीति पर जोर देते हैं। इसके लिए वे कोई भी सहयोग करने को तैयार हैं।

आतंकवाद की कड़ी निंदा :

उन्होंने कहा कि भारत और ऑस्ट्रिया, दोनों देश आतंकवाद की कड़ी निंदा करते हैं और इस बात पर सहमत हैं कि यह किसी भी रूप में स्वीकार्य नहीं है। उन्होंने कहा, इसे किसी भी तरह से उचित नहीं ठहराया जा सकता।

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र और कानून का शासन जैसे मूल्यों में साझा विश्वास भारत-ऑस्ट्रिया संबंधों का मजबूत आधार है। उन्होंने कहा, पारस्परिक विश्वास और साझा हित हमारे संबंधों को मजबूत करते हैं। हम संयुक्त राष्ट्र और अन्य अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं में सुधार करने पर सहमत हुए हैं ताकि उन्हें समसामयिक और प्रभावकारी बनाया जा सके।

शांति बहाली में भारत की भूमिका अहम : चांसलर

ऑस्ट्रिया के चांसलर कार्ल नेहमर ने कहा कि रूस-यूक्रेन के बीच शांति बहाली में भारत की अहम बेहद महत्वपूर्ण है। भारत एक प्रभावशाली और विश्वसनीय देश है। उन्होंने कहा, ऑस्ट्रिया एक तटस्थ देश के रूप में बातचीत के लिए प्रभावी मंच बनने को तैयार है।

संयुक्त बयान में नेहमर ने कहा, हमारे बीच यूक्रेन के खिलाफ रूस की आक्रामकता के बारे में गहन बातचीत हुई। भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। ऐसे में जब शांति बहाली के लिए वार्ता की बात आती है तो ऑस्ट्रिया के लिए भारत का पक्ष जानना बेहद महत्वपूर्ण हो जाता है। उन्होंने कहा, ऑस्ट्रिया विश्व में शांति बहाली के लिए बड़ा सहयोगी बनने को तैयार है। उन्होंने कहा, मध्य पूर्व में संघर्ष भी हमारी बातचीत का प्रमुख केंद्र रहा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।