DA Image
30 अक्तूबर, 2020|8:56|IST

अगली स्टोरी

सावधानी और सतर्कता के बीच स्नातक की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं शुरू हुई

सावधानी और सतर्कता के बीच स्नातक की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं शुरू हुई

गुरुग्राम। कोरोना काल में पूरी सावधानी और सतर्कता के बीच शनिवार से जिले के कॉलेजों में स्नातक की अंतिम वर्ष की परीक्षाओं का दौर शुरू हो गया। पहले दिन बीए्, बीबीए और बीसीए संकाय की परीक्षाएं हुई। परीक्षा दो पालियों में आयोजित करवाई गई। छात्रों ने ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से परीक्षा दी। कॉलेजों में परीक्षा कराने की तैयारी पहले ही पूरी कर ली गई थी। परीक्षार्थियों को बिना मास्क केंद्र में प्रवेश नहीं दिया गया। इससे पहले पिछले महीने महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (एमडीयू) से संबद्ध कॉलेजों में स्नातकोत्तर की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं संपन्न करवाई गई थी।

पहली पाली की परीक्षा सुबह दस बजे शुरू हो गई थी। जो करीब पौने घंटे तक चली। वहीं दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर को दो बजे शुरू हुई। परीक्षाएं छात्रों द्वारा ऑनलाइन व ऑफलाइन मोड में से चुने गए विकल्प के अनुसार ही आयोजित करवाई गई थी। ऑफलाइन परीक्षा कॉलेजों में कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए करवाई गई। वहीं ऑनलाइन परीक्षा छात्रों ने घर बैठे दी। ऑनलाइन परीक्षा के दौरान 15 छात्रों पर एक परीक्षक निगरानी में रहा। गूगल मीट के माध्यम से सभी छात्रों की निगरानी रखी गई। परीक्षा के लिए छात्रों को 45 मिनट का ही समय दिया गया था। परीक्षा में छात्रों से बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे गए थे।

थर्मल स्क्रीनिंग और सेनेटाइजेशन के बाद प्रवेश

जिन छात्रों ने ऑफलाइन माध्यम से परीक्षा देने का विकल्प चुना था, उनके लिए कॉलेज में ही इंतजाम किया गया था। कोविड के चलते सामाजिक दूरी और सेनेटाइजेशन को ध्यान में रखते हुए कॉलेज प्रबंधन की ओर से व्यवस्थाएं की गई थी। थर्मल स्क्रीनिंग और हाथों को सेनेटाइज कराने के बाद ही छात्रों को परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया गया था। राजकीय महाविद्यालय सेक्टर-9 में पहले दिन 104 छात्र ऑफलाइन माध्यम से परीक्षा देने पहुंचने। वहीं राजकीय महाविद्यालय जाटौली हेलीमंडी में 254 छात्रों ने अंग्रेजी की व 214 छात्रों ने हिंदी की परीक्षा ऑफलाइन माध्यम से दी।

ऑनलाइन लिंक खुलने में हुई परेशानी

ऑनलाइन परीक्षा के लिए छात्रों को प्रश्नपत्र का लिंक विश्वविद्यालय की ओर से ऑनलाइन माध्यम से मेल के जरिए ही भेजा गया था। छात्रों ने बताया कि लिंक खुलने में काफी दिक्कत हुई। विश्वविद्यालय द्वारा भेजे गए लिंक पर क्लिक करने से बार-बार एरर दिखा रहा था। जिस कारण छात्र देरी से परीक्षा शुरू कर सके। मेल पर ही छात्रों ने उत्तरपु‌स्तिका की फोटो खींच कर भेजी। उत्तरपुस्तिका की पीडीएफ बनाकर भेजने के लिए छात्रों को अतिरिक्त समय दिया गया। ऑनलाइन माध्यम से परीक्षा देने वाले छात्रों को बीच में एक-दो बार नेटवर्क से संबंधित दिक्कत भी हुई।

स्नातक की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं शनिवार से शुरू करवा दी गई। छात्रों ने ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों माध्यमों से परीक्षा दी। परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षा जांच और सेनेटाइजर का विशेष ध्यान रखा गया था। केंद्र पर नकल का कोई भी मामला सामने नहीं आया।

-सत्यमन्यु यादव, प्राचार्य, सेक्टर-9 राजकीय महाविद्यालय

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Undergraduate and final year examinations begin amid caution and vigilance