DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अरावली में पौधे लगाकर रखरखाव की जिम्मेदारी भी ली

अरावली में पौधे लगाकर रखरखाव की जिम्मेदारी भी ली

अरावली में हरियाली बढ़ाने के लिए एक दंपति ने पौधे लगाने की मुहिम शुरू की है। वह यह काम पिछले एक माह से कर रहे हैं। इस दौरान 15 पौधे लगाकर उनकी देखभाल भी कर रहे हैं।

रोजाना दंपति पौधों के रखरखाव के लिए एक घंटा देते हैं। इसके अलावा सोशल साइट के जरिए लोगों को अरावली को बचाने के लिए एकजुट कर रहे हैं। वह अरावली में खाली जमीन का चयन करते हैं। उसके बाद वहां पर पौधे लगा कर उनका रखरखाव करते है। परिवार एक साल पहले दिल्ली से शिफ्ट होकर गुरुग्राम आए हैं। यहां सेक्टर-49 में रहते हैं।

पानी की होती है दिक्कत : दंपति विजय यादव और अर्चना यादव ने बताया कि सनसिटी के पास अरावली में पड़ी खाली जमीन पर पौधे लगाए गए हैं। छोटे तालाब बने हुए हैं। वहां से पौधो को पानी दिया जा रहा है। हालांकि अरावली पौधे लगाने के बाद उनका रखरखाव करने में पानी को लेकर ज्यादा दिक्कतें होती हैं। अरावली में नीम और पीपल के पौधे लगाए गए हैं।

खाली जमीन पर लगाए पौधे : अर्चना यादव ने बताया कि वह सनसिटी के पास अपने बेटे को फुटबाल कोचिंग के लिए अकादमी में लेकर जाती थी। उस दौरान उन्होंने और उनके पति विजय यादव ने अरावली में आस-पास खाली जमीन देखी। जहां पर पौधे नहीं थे। उसके बाद धीरे-धीरे वहां पर 15 पौधे लगाए गए।

दिल्ली में लगाए थे 150 पौधे

अर्चना यादव ने बताया कि उनके पति विजय यादव इंजीनियर है। वह गृहणी हैं। गुरुग्राम से पहले द्वारका में रहते हैं। वहां पर भी उन्होने कई पार्को में पौधे लगाए। पांच साल में उन्होने 150 पौधे लगाए गए।

मदद करने का भरोसा : सेव अरावली संस्था के संस्थापक जीतेंद्र भड़ाना ने बताया कि अर्चना यादव ने उनसे संपर्क किया था। उनको सेव अरावली संस्था उनकी मदद करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:tree plantation in Aravali